• अविश्वास प्रस्ताव चर्चा, मोदी ने विपक्ष के आरोपों का खंडन किया

भारत की केन्द्र सरकार के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए सदन में पूरे दिन चली बहस में विपक्ष ने कई तर्क दिए और सरकार पर अनेक आरोप लगाए । सरकार में कार्यरत नेताओं ने आरोपों का खंडन किया।

चर्चा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण में कहा कि देश में पूर्ण बहुमत से बनी सरकार को गिराने की मंशा रखने वाले नकारात्मकता की राजनीति कर रहे हैं। उनका कहना था कि विपक्ष में विकास के प्रति विरोध है।

उनका कहना था कि नकारात्मक राजनीति ने कुछ लोगों के घेर कर रखा हुआ है। नरेंद्र मोदी ने कहा कि सरकार नहीं गिरेगी तो क्या आसमान फट जाएगा? क्या भूकंप आ जाएगा? अविश्वास प्रस्ताव पर सदन में चर्चा को टालने की कोशिश भी की गई। उन्होंने कहा कि बिना तैयारी के सरकार के खिलाफ़ अविश्वास प्रस्ताव लाने की कोशिश की गई।

भारतीय प्रधानमंत्री ने कहा कि स्वच्छ भारत पर, अंतराष्ट्रीय योग दिवस पर, रिज़र्व बैंक पर, देश के मुख्य न्यायाधीश पर, चुनाव आयोग पर और EVM पर भी कांग्रेस को विश्वास नहीं है क्योंकि उनको ख़ुद पर विश्वास नहीं है।

पीएम ने कहा सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव का कारण विपक्ष का अहंकार है।

उन्होंने कहा कि इस प्रस्ताव के बहाने विपक्ष द्वारा अपने कुनबे को जमाने की कोशिश की गई है। अपने कुनबे के बिखरने की चिंता है। (AK)

Jul २१, २०१८ ०७:५८ Asia/Kolkata
कमेंट्स