• मंहगाई पर गला फाड़कर चीख़ने वालों को पैट्रोल-डीज़ल के बढ़ते मूल्यों पर क्यों सांप सूंघ गया, गांधी

भारत में लगातार पेट्रोल-डीज़ल की बढ़ती क़ीमतों और रुपय के रिकार्ड निचले स्तर पर पहुंचने के लिए कांग्रेस और विपक्षी दलों ने मोदी सरकार की कड़ी आलोचना की है।

अनियंत्रित मंहगाई के विरोध में कांग्रेस के नेतृत्व में विपक्षी दलों के 'भारत बंद' का देश भर में असर देखने को मिला।

सोमवार को हुए विरोध प्रदर्शन में कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में बीजेपी सरकार पर कई प्रहार किए। उन्‍होंने प्रधान मंत्री मोदी की चुप्‍पी पर भी सवाल उठाए और कहा कि मोदी जब विपक्ष में थे तो गला फाड़ फाड़कर मंहगाई का रोना रोते थे, लेकिन अब वह क्यों ख़ामोश हैं?

राहुल गांधी ने कहा जिस विषय पर देश उनसे कुछ सुनना चाहता है वह उस पर कुछ नहीं कहेंगे।

विरोध प्रदर्शन में शामिल पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने मोदी सरकार को हर क्षेत्र में विफल बताते हुए सभी विपक्षी दलों का 'देश की एकता, अखंडता और लोकतंत्र को बचाने के लिए एकजुट होने का आह्वान किया।'

विरोध प्रदर्शन में सिंह के अलावा संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) की प्रमुख सोनिया गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और राकांपा प्रमुख शरद पवार सहित क़रीब 20 विपक्षी पार्टियों के नेता शामिल हुए। इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और दूसरे नेताओं ने राजघाट से रामलीला मैदान तक मार्च किया। msm

 

टैग्स

Sep १०, २०१८ १५:१९ Asia/Kolkata
कमेंट्स