• नरेन्द्र मोदी पर राफेल सौदे में संलिप्तता का आरोप

भारत के पूर्व केन्द्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा ने राफेल लड़ाकू विमान सौदे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की व्यक्तिगत संलिप्तता का आरोप लगाया है।

बीजेपी के पूर्व मंत्रियों यशवंत सिन्हा और अरुण शौरी ने मंगलवार को कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने राफेल लड़ाकू विमान सौदे को एकतरफा ढंग से अंतिम रूप देकर रक्षा खरीद के सभी नियमों को ताक़ पर रख दिया।

उनका कहना है कि इस प्रकार सभी नियमों को ताक़ पर रख रखकर राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ समझौता किया है।  भारत के पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा और अरुण शौरी के साथ ही वकील प्रशांत भूषण ने भी आरोप लगाया है कि राफेल सौदे में अपने बचाव के लिए केंद्र सरकार अब सेना का सहारा ले रही है।  यशवंत सिन्हा, अरुण शौरी तथा प्रशांत भूषण तीनों का आरोप है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व्यक्तिगत रूप से राफेल विमान सौदे के घोटाले में "गुनहगार" हैं।नई दिल्ली में संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए यशवंत सिन्हा और अरुण शौरी दोनों ने कहा कि केन्द्र सरकार ने देश के सबसे बड़े रक्षा घोटाले में मोदी की संलिप्तता को बचाने के लिए झूठ का पुलिंदा बुना है।

शौरी ने कहा कि उन्होंने जो भी स्पष्टीकरण दिया है उसने सरकार को झूठ के जाल में अधिक फंसाने का काम किया है।  उन्होंने कहा कि मोदी को संप्रग सरकार के सौदे को पलटने का कोई अधिकार नहीं था।  इससे पहले कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीपसिंह सुरजेवाला ने कहा था कि जब विमान एक ही सिस्टम से लैस हैं तो मोदी सरकार इन विमानों के लिए तीन गुना अधिक मूल्य क्यों दे रही है?

कांग्रेस ने राफेल लड़ाकू विमान सौदे में अतिरिक्त तकनीकी विशेषताओं के कारण कीमत में हुई बढोतरी के मोदी सरकार के दावों को ग़लत बताते हुए कहा है कि इन विमानों में नया कुछ नहीं है और सरकार इसमें हुए 41 हजार करोड़ रुपए के घोटाले पर पर्दा डालने का प्रयास कर रही है।  कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीपसिंह सुरजेवाला ने कहा था कि राफेल विमान सौदे को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण एवं वित्तमंत्री अरुण जेटली ने सफेद झूठ बोला है कि भारत के लिए इन विमानों में खास रणनीतिक प्रणालियां लगायी गयी हैं जिसके कारण ये विमान संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन संप्रग सरकार के समय खरीदे जाने वाले विमानों से अलग हैं और उनकी कीमत अधिक हैं।

टैग्स

Sep १२, २०१८ १९:०८ Asia/Kolkata
कमेंट्स