• मोदी सरकार ने ही दिया था रिलायंस का नामः ओलांद

फ़्रांस के पूर्व राष्ट्रपति ने स्पष्ट किया है कि राफेल डील के लिए मोदी सरकार ने रिलायंस कंपनी का नाम पेश किया था। 

एक फ़्रांसीसी वेबसाइट ने फ़्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के हवाले से बताया है कि राफेल समझौते के लिए भारत सरकार की ओर से अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस का नाम पेश किया गया था।  आजतक के अनुसार ओलांद का साक्षात्कार छापने वाली मीडिया पार्ट के अध्यक्ष एडवे प्लेनले ने इंडिया टुडे से इस मामले में कहा कि डील को लेकर ओलांद बिल्कुल स्पष्ट हैं, उन्होंने डील के वक्त अनिल अंबानी की मौजूदगी को लेकर भारत सरकार से सवाल किए थे।  भारत सरकार की ओर से इस मामले में रिलायंस को जबरन थोपा गया था।  पहले समझौता 100 से ज्यादा विमान को लेकर था, लेकिन बाद में भारत सरकार ने 36 विमानों पर ही सहमति जताई।

ओलांद का कहना है कि भारत सरकार की तरफ से ही रिलायंस का नाम दिया गया था और इसे चुनने में दसॉ की भूमिका नहीं है।  ओलांद के अनुसार दसॉ एविएशन कंपनी के पास कोई दूसरा विकल्प नहीं था।

ज्ञात रहे कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, राफेल समझौते में रिलायंस कंपनी के शामिल किये जाने पर भारत की केन्द्र सरकार और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से लगातार सवाल पूछते रहे हैं।   

टैग्स

Sep २२, २०१८ ०८:०२ Asia/Kolkata
कमेंट्स