• गुजरात दंगे, मोदी की क्लिन चिट को सुप्रिम कोर्ट में चुनौती

गुजरात दंगे मामले में भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को क्लीन चिट दिए जाने को ज़किया जाफ़री ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है।

प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार ज़किया जाफ़री की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट सुनवाई के लिए तैयार हो गया है और सोमवार को मामले की सुनवाई होगी। ज़किया जाफ़री पूर्व कांग्रेस सांसद एहसान जाफ़री की पत्नी हैं जिनकी गुजरात दंगों में हत्या कर दी गई थी। एहसान जाफरी और अन्य 68 लोगों को गुजरात दंगों के दौरान भीड़ ने हत्या कर दी थी। यह दंगे अहमदाबाद की मुस्लिम बहुल गुलबर्ग सोसायटी में 28 फरवरी 2002 को हुए थे। यह दंगे गोधरा ट्रेन कांड के बाद हुए थे। इस मामलें में जाकिया की शिकायत में वर्ष 2006 में पुलिस ने मोदी, कुछ मंत्रियों और ब्यूरोक्रेट्स के खिलाफ केस दर्ज किया था।

ज्ञात रहे कि जब नरेन्द्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे तो उन पर 2002 के गुजरात दंगों का षड़यंत्र रचने का आरोप लगा था। अक्तूबर 2017 में गुजरात हाईकोर्ट ने स्पेशल इंवेस्टिगेशन टीम की जांच को बरक़रार रखते हुए नरेंद्र मोदी समेत 58 लोगों को क्लीन चिट दे दी थी। यह याचिका ज़किया जाफ़री और तीस्ता सेतलवाड़ की जस्टिस एंड पीस फाउंडेशन ने दाख़िल की है जिसने सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित एसआईटी और 2002 में क्लोजर रिपोर्ट को पलटने वाले मजिस्ट्रेट कोर्ट के आदेश को आधार बनाया गया है।

दो साल बाद सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार को निर्देश दिया था कि कुछ मुख्य दंगों की दोबारा जांच करे जिसमें गुलबर्ग सोसयटी मामला भी शामिल है। (ak)

Nov १३, २०१८ १६:१७ Asia/Kolkata
कमेंट्स