Dec १२, २०१८ १५:३५ Asia/Kolkata
  • बीजेपी की हार के कारण क्या हैं? मोदी का अहंकार, योगी की ज़हरीली भाषा या... विश्लेषण

मंगलवार की शाम पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों के नतीजों का अभी पूरी तरह से एलान नहीं हुआ था, लेकिन हिंदुस्तान का दिल समझे जाने वाले तीन राज्यों में कांग्रेस की शानदार जीत और भारतीय जनता पार्टी की करारी हार की तस्वीर चुनाव के कैनवस पर उभर कर सामने आ चुकी थी।

इस दौरान, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में छत्तीसगढ़, राजस्थान और मध्य प्रदेश में कांग्रेस की जीत और बीजेपी के कारणों का उल्लेख करते हुए कहा, 2014 में मोदी तीन मुख्य वादों के साथ सत्ता में पहुंचे थे, रोज़गार, भ्रष्टाचार और किसानों की स्थिति में सुधार। मोदी ने न केवल अपने वादों को पूरा नहीं किया, बल्कि ख़ुद भ्रष्टाचार में लिप्त हो गए।

इतनी बड़ी जीत के बाद भी बहुत ही शालीनता और आत्मविश्वास के साथ अपनी बात रखने के लिए राहुल गांधी की चौतरफ़ा प्रशंसा हो रही है।

राहुल गांधी का कहना था कि मैंने मोदी से यह सीखा है कि मुझे क्या नहीं करना चाहिए और हम कभी भी किसी से मुक्त भारत की बात नहीं करेंगे।

ग़ौरतलब है कि कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ में कांग्रेस ने कुल 90 सीटों में से 68 सीटें हासिल करके बीजेपी को केवल 15 पर सीमित कर दिया, राजस्थान में कुल 199 सीटों में से कांग्रेस ने 101

और मध्य प्रदेश में 230 में से 114 जीतकर बीजेकी को तगड़ा झटका दिया है।

पांच राज्यों के विधान सभा चुनावों को 2016 के आम चुनाव के लिए सेमीफ़ाइनल समझा जा रहा है, इसलिए इसके नतीजों ने बीजेपी की साम्प्रदायिक नीतियों को नकार दिया है तो वहीं कांग्रेस पर जनता ने विश्वास जताया है।

उधर तेलंगाना में सत्तारूढ़ टीआरएस ने 119 में से 88 सीटें जीत कर बीजेपी को केवल 1 सीट पर समेट दिया है।

तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में ऑल इंडिया मजलिसे इत्तेहादुल मुस्लेमीन (एआईएमआईएम) अपनी सातों सीटें बचाने में सफल रही है।

तेलंगाना में बीजेपी ने अपने स्टार प्रचारक यूपी के विवादित मुख्य मंत्री योगी को ध्रुविकरण की आशा से प्रचार के लिए उतारा था, लेकिन इस राज्य की जागरुक जनता ने योगी की ज़हरीली भाषा को पूर्ण रूप से ख़ारिज कर दिया, जिसका ख़मियाज़ा बीजेपी को भुगतना पड़ा है।

प्रेस क्रांफ़्रेंस के दौरान राहुल गांधी से जब पूछा गया, बीजेपी हमेशा कांग्रेस मुक्त भारत की बात करती है, क्या कांग्रेस की वापसी के बाद बीजेपी मुक्त भारत की शुरूआत होगी? तो राहुल ने बड़े ही सधे अंदाज़ में जवाब दिया, हमारी अप्रोच अलग है। बीजेपी की एक विचारधारा है। हम उस विचारधारा के ख़िलाफ़ लड़ेंगे। हमने आज उन्हें हराया है, 2019 में भी हराएंगे। मगर हम किसी को भारत से मुक्त नहीं करना चाहते हैं।

वेशेषज्ञों का मानना है कि राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश के चुनावी नतीजे यह सिद्ध करते हैं कि बीजेपी को लोकसभा चुनावों में नुक़सान उठाना पड़ सकता है। msm

टैग्स

कमेंट्स