• सुरक्षा परिषद ने की जेसीपीओए के प्रति ईरान के कटिबद्ध रहने की पुष्टि

संयुक्त राष्ट्रसंघ की सुरक्षा परिषद ने इस बात की पुष्टि की है कि इस्लामी गणतंत्र ईरान ने जेसीपीओए के संदर्भ में समस्त परमाणु प्रतिबद्धताओं का पालन किया है।

अलआलम की रिपोर्ट के अनुसार बुधवार की रात सुरक्षा परिषद ने जेसीपीओए के प्रति ईरान की कटिबद्धता के बारे समीक्षा बैठक बुलाई थी जिसमें यह कहा गया कि ईरान अपने वचनों के प्रति कटिबद्ध रहा है।

इस बैठक में संयुक्त राष्ट्रसंघ में यूरोपीय संघ के प्रतिनिधि ने कहा कि यह तय पाया है कि ईरान की परमाणु सहमति के बारे में हर 6 महीने में एक बाद रिपोर्ट पेश की जाए।

इसी बीच राष्ट्रसंघ में ब्रिटेन के प्रतिनिधि ने इस बैठक में कहा कि विश्व, ईरान के साथ आर्थिक सहकारिता के लिए तैयार है।  रूस का कहना है कि ईरान की ओर से की जाने वाली प्रतिबद्ध से हम संतुष्ट हैं।  रूसी प्रतिनिधि चूरकीन ने कहा कि हम किसी भी स्थिति में यह बात स्वीकार नहीं करेंगे कि ईरान के अन्तर्राष्ट्रीय मैदान में पहुचने में कोई बाधा उत्पन्न हो।  इटली के प्रतिनिधि का कहना है कि जेसीपीओए सहमति के आधार पर ईरान ने अपने फोर्दो प्रतिष्ठान के बारे में वचन पूरे किये हैं।  इतना सब होने के बावजूद अमरीका ने जेसीपीओए के बारे में नकारात्मक विचार पेश किये हैं।  राष्ट्रसंघ में अमरीकी प्रतिनिधि ने कहा कि जेसीपीओए के कारण ईरान के अन्य विषयों से सुरक्षा परिषद का ध्यान नहीं हटना चाहिए।  

ज्ञात रहे कि इससे पहले अमरीकी नवनिर्वाचित राष्ट्रपति टंप कह चुके हैं कि ईरान के साथ हुए परमाणु समझौते से वे सहमत नहीं हैं और उसे वे एक बहुत बुरा समझौता समझते हैं।

टैग्स

Jan १९, २०१७ ०८:०३ Asia/Kolkata
कमेंट्स