• अरब संघ की बैठक का बयान खेदजनक हैः ईरान

इस्लामी गणतंत्र ईरान ने अरब संघ के शिखर सम्मेलन के घोषणापत्र पर खेद व्यक्त किया है।

इस्लामी गणतंत्र ईरान के विदेशमंत्रालय के प्रवक्ता बहराम क़ासिमी ने जार्डन में आयोजित अरब संघ के शिखर सम्मेलन के घोषणापत्र में ईरान विरोधी निराधारा आरोप दोहराए जाने पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि इस्लामी गणतंत्र ईरान की विदेश नीति दूसरे देशों की अखंडता का सम्मन और उनके आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप पर आधारित है।

बहराम क़ासिमी ने कहा कि ईरान कई बार अपने स्पष्ट दृष्टिकोणों की घोषणा कर चुका है कि वह अंतर्राष्ट्रीय क़ानूनों के अनुसार दूसरे देशों की अखंडता और स्वाधीनता का सम्मान करता है।

विदेशमंत्रालय के प्रवक्ता ने फ़ार्स की खाड़ी में तीन ईरानी द्वीपों के हवाले से किए गये दावों को रद्द करते हुए कहा कि यह द्वीप ईरान का अटूट अंग हैं।

 बहराम क़ासिमी ने इस बात पर बल देते हुए कि एेसे दावों को दोहराए जाने से वास्तविकता और इतिहास को नहीं बदला जा सकता है।

उन्होंने कहा कि ईरान अपने पड़ोसी देशों के साथ मित्रता, सम्मान और आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप न करने की नीति पर आधारित है। (AK)

टैग्स

Mar ३०, २०१७ १५:४२ Asia/Kolkata
कमेंट्स