• आयतुल्लाह मोहम्मद अली मोवह्हेदी किरमानी

तेहरान के जुमे के इमाम ने कहा है कि ईरानी जनता आगामी राष्ट्रपति पद के चुनाव में बड़ी संख्या में भाग लेकर इस्लामी गणतंत्र ईरान की शक्ति का प्रदर्शन करेगी।

आयतुल्लाह मोहम्मद अली मोवह्हेदी किरमानी ने जुमे की नमाज़ के विशेष भाषण में जनता पर चुनाव की संवेदनशीलता की ओर ध्यान देने पर बल देते हुए कहा कि ईरानी जनता चुनाव में भारी संख्या में भाग लेकर यह दर्शाएगी कि ईरान की इस्लामी व्यवस्था के पास जनाधार है।

उन्होंने जनता से राष्ट्रपति पद के प्रत्याशियों के सार्थक व नकारात्मक बिन्दुओं पर ध्यान देने की अपील करते हुए कहा कि प्रत्याशी ऐसे वादे न करें जिसे पूरा नहीं कर सकते।

आयतुल्लाह मोवह्हेदी किरमानी ने कहा कि ईरान के राष्ट्रपति के व्यक्तित्व के लिए ज़रूरी है कि वह जनता को दुश्मन ख़ास तौर पर अमरीका से न डराए।

उन्होंने इसी प्रकार सीरिया के हुम्स प्रांत में स्थित शईरात हवाई छावनी पर अमरीका के हालिया हमले की ओर इशारा करते हए कहा कि सीरिया पर अमरीका का हमला भुलाया नहीं जा सकता।

जुमे के इमाम ने इस बात का उल्लेख करते हुए कि अमरीका की दुष्टता व अपराध दिन प्रतिदिन बढ़ते जा रहे हैं, कहा कि अमरीका देशों को कमज़ोर कर उन्हें बर्बाद करने पर लगा हुआ है।

आयतुल्लाह मोहम्मद अली मोवह्हेदी किरमानी ने हज के लिए ईरानी श्रद्धालुओं को भेजने के बारे में ईरान के हज विभाग व सऊदी अरब के बीच हुयी सहमति की ओर इशारा करते हुए कहा कि सऊदी शासन के ईरानी हाजियों को सुरक्षा प्रदान करने के वादे पर ख़ुश नहीं होना चाहिए। उन्होंने इस बात का उल्लेख करते हुए कि अभी भी मिना त्रासदी के घाव भरे नहीं हैं, बल दिया कि सुरक्षा न होने की हालत में हज अनिवार्य नहीं है। (MAQ/N)

 

Apr २१, २०१७ १६:३१ Asia/Kolkata
कमेंट्स