• ईरानी राष्ट्र से टकराव का नतीजा, पराजय के अलावा कुछ नहीं होगाः जनरल सलामी

आईआरजीसी के उपकमांडर ने इस बात पर बल देते हुए कि ईरानी राष्ट्र से टकराव का नतीजा, पराजय के अलावा कुछ नहीं होगा, कहा है कि इराक़ द्वारा थोपे गए आठ वर्षीय युद्ध के दौरान पवित्र प्रतिरोध ने ईरानी राष्ट्र को सुरक्षा प्रदान की।

ब्रिगेडियर जनरल हुसैन सलामी ने केंद्रीय ईरान के इस्फ़हान प्रांत के गुरगाब शहर में कहा कि पवित्र प्रतिरोध का काल, साम्राज्यवादी दुनिया के मुक़ाबले में ईरानी राष्ट्र की एकता का प्रदर्शन था। उन्होंने इस बात का उल्लेख करते हुए कि ईरान ने अपनी पहचान, आशूरा की संस्कृति से हासिल की है, कहा कि ईरानी राष्ट्र ने अमरीका, ज़ायोनी शासन और उनके घटकों के सामने जो चीज़ प्रदर्शित की है वह उन पुरुषों व महिलाओं का अपार प्रतिरोध व साहस है जिन्होंने आशूरा की संस्कृति और अपने समय के सर्वोच्च धार्मिक नेता की शिक्षाओं से हासिल किया है।

 

आईआरजीसी के उपकमांडर ब्रिगेडियर जनरल हुसैन सलामी ने संयुक्त राष्ट्र संघ की महासभा के 72वें अधिवेशन में अमरीका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प के ईरान विरोधी ग़ैर कूटनैतिक भाषण के बारे में कहा कि अमरीकियों को इस मूर्खतापूर्ण भाषण पर लज्जित होना चाहिए। उन्होंने अमरीका को आले सऊद और ज़ायोनी शासन का मुख्य समर्थक बताते हुए कहा कि ये दोनों सरकारें अमरीका के समर्थन से ही यमन और फ़िलिस्तीन की अत्याचारग्रस्त जनता का जनसंहार कर रही हैं। (HN)

टैग्स

Sep २२, २०१७ १३:२४ Asia/Kolkata
कमेंट्स