• अलअरबिया की झूठी ख़बर की पोल खुल गयी, ईरान ने दिया एेसा जवाब

ईरान के विदेशमंत्रालय के प्रवक्ता ने भूकंप पीड़ितों को संयुक्त अरब इमारात की ओर से सहायता के सुझाव पर आधारित अबू ज़बी के क्राउन प्रिंस की राष्ट्रपति रूहानी से टेलीफ़ोनी वार्ता पर आधारित ख़बर को झूठी और मनगढ़ंत बताया है।

इस्लामी गणतंत्र ईरान के विदेशमंत्रालय के प्रवक्ता ने मंगलवार की रात अबू ज़बी के क्राउन प्रिंस की राष्ट्रपति रूहानी से टेलीफ़ोनी वार्ता और भूकंप पीड़ितों की सहायता के लिए संयुक्त अरब इमारात के प्रस्ताव पर आधारित सोशल मीडिया पर वायरल हो रही ख़बरों के बारे में कहा कि यह ख़बर पूरी तरह झूठी है और इस प्रकार का कोई संपर्क नहीं हुआ है।

रविवार की रात 7.3 डिग्री रिक्टर के एक भीषण भूकंप ने पश्चिमी ईरान के इलाक़े को हिला कर रख दिया था जिसमें अब तक कम से कम 432 लोगों के हताहत और 7817 लोगों के घायल होने की सूचना है।

अब तक अनेक देशों के अधिकारियों, विदेश मंत्रियों और राजदूतों और संयुक्त राष्ट्र संघ व यूरोपीय संघ समेत अनेक देशों व अंतर्राष्ट्रीय संस्थाओं ने टेलीफ़ोन के माध्यम से और इसी तरह औपचारिक बयानों व प्रेस रिलीज़ द्वारा ईरान की सरकार व जनता से संवेदना जतायी है।

इस्लामी गणतंत्र ईरान के विदेशमंत्री मुहम्मद जवाद ज़रीफ़ ने मंगलवार की सुबह ट्वीट करके ईरान के भूकंप पीड़ितों की सहायता के लिए विभिन्न देशों के प्रस्तावों और उनकी ओर से सहानुभूति की सराहना करते हुए कहा कि अभी तक ईरान अपने आंतरिक स्रोतों के माध्यम से भूकंप संकट का प्रबंधन कर रहा है।

सऊदी अरब के अलअरबिया टीवी चैनल ने दावा किया था कि अबू ज़बी के क्राउन प्रिंस शैख़ मुहम्मद बिन ज़ाएद ने ईरान के राष्ट्रपति डाक्टर हसन रूहानी से टेलीफ़ोनी संपर्क में भूकंप पीड़ितों की सहायता का प्रस्ताव दिया था। (AK)

Nov १५, २०१७ ०१:०८ Asia/Kolkata
कमेंट्स