• सुरक्षा परिषद की बैठक ट्रम्प की विदेश नीति की एक अन्य विफलताः ज़रीफ़

विदेशमंत्री ने कहा है कि ईरान के बारे में सुरक्षा परिषद की हालिया बैठक अमरीका की एक अन्य मूर्खतापूर्ण भूल है।

जवाद ज़रीफ़ ने ईरान के संबन्ध में राष्ट्रसंघ की सुरक्षा परिषद की ताज़ा बैठक को ट्रम्प सरकार की एक अन्य बदनामी बताया है।

ईरान के विदेशमंत्री ने सुरक्षा परिषद की बैठक के बाद शनिवार को ट्वीट करते हुए लिखा है कि यह बैठक ट्रम्प की विदेश नीति की एक अन्य बदनामी है।  इस बैठक में सुरक्षा परिषद के अधिकांश सदस्यों ने अमरीका का विरोध करते हुए वाशिग्टन को अनुमति नहीं दी कि वह ईरान के उपद्रवियों का आधिकारिक समर्थन कर सके।  इस बारे में राष्ट्रसंघ में क़ज़ाक़िस्तान के प्रतिनिधि ग़ैरत अमरोफ ने स्पष्ट किया कि सुरक्षा परिषद में इस प्रकार के विषय की समीक्षा नहीं की जानी चाहिए।

संयुक्त राष्ट्र संघ में ईरानी दूत ग़ुलाम अली ख़ुशरू ने कहा है कि सुरक्षा परिषद के कुछ सदस्यों के विरोध के बावजूद इस परिषद ने ख़ुद को अमरीकी सरकार के हाथ का खिलौना बनने दिया।  उन्होंने कहा कि सुरक्षा परिषद में एक एसे विषय पर बैठक की गई जिसपर चर्चा उसके कार्यक्षेत्र में नहीं आती।  इस तरह सुरक्षा परिषद ने अंतर्राष्ट्रीय शांति व सुरक्षा क़ायम करने में अपनी अक्षमता को ज़ाहिर कर दिया।

ज्ञात रहे कि संयुक्त राष्ट्रसंघ की सुरक्षा परिषद ने शुक्रवार की रात ईरान के हालिया घटनाक्रम की समीक्षा के उद्देश्य से एक बैठक आयोजित की थी।

टैग्स

Jan ०६, २०१८ १०:१५ Asia/Kolkata
कमेंट्स