• इज़्ज़त से बढ़कर कोई चीज़ नहीं हैः राष्ट्रपति रूहानी

उन्होंने कहा कि हालिया कुछ वर्षों में आपने देखा कि इराक और सीरिया में आतंकवादियों ने लोगों और लोगों की महिलाओं के साथ क्या व्यवहार किया।

राष्ट्रपति रूहानी ने कहा है कि अगर हम एक धनी राष्ट्र हों और जनसंख्य भी अधिक हो किन्तु एक बड़ी शक्ति के सामने तुच्छ व अपमानित हों तो कोई फायदा नहीं। राष्ट्रपति डॉक्टर हसन रूहानी ने कहा कि एक राष्ट्र के लिए इज़्ज़त, महानता और प्रतिष्ठा से बढ़कर कोई चीज़ नहीं है।

उन्होंने कल शाम को विशेषकर खुर्रम शहर की आज़ादी की वर्षगांठ पर तेहरान में आयोजित कार्यक्रम में अमेरिका के राष्ट्रपति के उस बयान की ओर संकेत किया जिसमें डोनाल्ड ट्रम्प ने सऊदी अरब को दुधारू गाय की संज्ञा दी थी और बड़ी निर्लज्जता के साथ कहा था कि उसे दूहना चाहिये।

राष्ट्रपति ने कहा कि एक राष्ट्र के लिए धन और अच्छा जीवन अच्छी चीज़ है परंतु एक राष्ट्र की इज़्ज़त उससे भी अधिक है। उन्होंने देकर कहा कि अगर संघर्षकर्ता व जियाले देश, प्रतिष्ठा, इस्लाम और क्रांति की रक्षा के लिए न लड़ते तो आज पता नहीं हम किस स्थिति में होते।

उन्होंने कहा कि हालिया कुछ वर्षों में आपने देखा कि इराक और सीरिया में आतंकवादियों ने लोगों और लोगों की महिलाओं के साथ क्या व्यवहार किया।

राष्ट्रपति डॉक्टर हसन रूहानी ने स्पष्ट किया कि आज ईरानी राष्ट्र विश्व का एक प्रतिष्ठित व प्रिय राष्ट्र है क्योंकि वह पूरी तरह ईश्वर पर भरोसा करता है और पैग़म्बरे इस्लाम एवं उनके पवित्र परिजनों का नाम लेकर दुश्मनों के मुकाबले में डटा हुआ है। राष्ट्रपति रूहानी ने कहा कि प्रतिरक्षा काल के दौरान जिस तरह लोगों को खुर्रम शहर की आज़ादी ने खुश किया उस तरह किसी चीज़ ने लोगों को खुशहाल नहीं किया।

उन्होंने कहा कि विश्व वासियों के लिए तीन खुर्दाद का संदेश यह है कि विश्व ने खुर्रम शहर की आज़ादी को मान लिया और ईरान को पराजित नहीं किया जा सकता।

ज्ञात रहे कि तीन खुर्दाद बराबर 24 मई 1982 को खुर्रम शहर आज़ाद हुआ था और इस दिन को ईरान में खुर्रमशहर की आज़ादी की वर्षगांठ मनाई जाती है। MM

 

मई २५, २०१८ १२:०० Asia/Kolkata
कमेंट्स