• ट्रम्प ने अमरीका को राजनैतिक तौर पर अलग-थलग कर दिया हैः शमख़ानी

ईरान की उच्च राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के सचिव ने कहा है कि हालिया दिनों में ग़ज़्ज़ा व पश्चिमी तट में ज़ायोनी शासन की हिंसा में वृद्धि, इस्लामी जगत में फूट के लिए तकफ़ीरी आतंकियों को इस्तेमाल करने की चाल की विफलता पर खिसयाहट की परिचायक है।

अली शमख़ानी ने हमारे संवाददाता से बात करते हुए कहा कि सीरिया व इराक़ में शांति व सुरक्षा की बहाली, ज़ायोनी शासन की सुरक्षा और फ़िलिस्तीन समस्या के पुनः इस्लामी जगत की सबसे बड़ी समस्या बनने के संबंध में ख़तरे की घंटी है। उन्होंने कहा कि आज प्रतिरोधकर्ता गुट और इस्लामी जगत का आम जनमत पहले से अधिक इस सच्चाई को समझ चुका है कि अमरीका से वार्ता और ज़ायोनी शासन की मांगों के मुक़ाबले में पीछे हट कर इस शासन के विस्तारवाद और अतिक्रमण की ख़ूनी भूख को रोका नहीं जा सकता।

 

ईरान की उच्च राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के सचिव ने संयुक्त राष्ट्र संघ की सुरक्षा परिषद में अमरीका के बहिष्कार को एक अभूतपूर्व व अमरीका के लिए अपमानजनक घटना बताया और कहा कि अमरीका ने हमास को अतिग्रहित क्षेत्रों की हालिया घटनाओं के लिए ज़िम्मेदार क़रार देने का जो प्रस्ताव पेश किया था उसके पक्ष में सुरक्षा परिषद के एक भी सदस्य ने वोट नहीं दिया। उन्होंने कहा कि अमरीका के पारंपरिक घटकों का उससे दूर होना इस वास्तविकता की पुष्टि करता है कि ट्रम्प ने अपनी मूर्खतापूर्ण नीतियों के ज़रिये राजनैतिक स्तर पर अमरीका को अभूतपूर्व ढंग से अलग-थलग कर दिया है। (HN)

टैग्स

Jun ०३, २०१८ १७:४० Asia/Kolkata
कमेंट्स