• नाइकी कंपनी ईरानी राष्ट्र से माफ़ी मांगे, ईरानी फुटबॉल टीम के कोच ने की मांग

इस्लामी गणतंत्र ईरान की राष्ट्रीय फुटबॉल टीम के मुख्य कोच कार्लोस क्विरोज़ ने अमेरिकी खेल सामग्री बनाने वाली कंपनी नाइकी से मांग की है कि वह ईरानी राष्ट्र से माफ़ी मांगे।

प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार खेल सामग्री बनाने वाली अमेरिकी कंपनी नाइकी ने अमेरिकी प्रतिबंधों का बहाना बनाकर रूस में होने वाले फुटबॉल वर्ल्ड कप 2018 के ठीक पहले ईरान की फुटबॉल टीम से करार तोड़ दिया है। इससे अब ईरान के फ़ुटबॉल खिलाड़ियों को नए जूतों के साथ मैदान में उतरना होगा। ईरान के खिलाड़ी नाइकी के जूते का इस्तेमाल करते हैं, लेकिन जूता आपूर्ति करने से नाइकी के अचानक मना करने के बाद खिलाड़ियों को प्रतिद्वंद्वियों से निपटने के साथ नए जूतों से सामंजस्य बैठाने की चुनौती का भी सामना करना होगा। 

'ईएसपीएन' की ख़बर के मुताबिक़, ईरान के फुटबॉल महासंघ ने 2014 वर्ल्ड कप के दौरान प्रतिबंधों के बावजूद देश की फ़ुटबॉल टीम को जूता आपूर्ति करने वाली कंपनी के द्वारा वर्ल्ड कप 2018 से ठीक पहले लिए गए इस फैसले पर फ़ीफ़ा से मांग की है कि वह नाइकी से इस संबंध में स्पष्टीकरण मांगे। 

कंपनी के इस फ़ैसले से ग़ुस्साए ईरान के कोच कार्लोस क्विरोज़ ने कहा है कि किसी भी देश के खिलाड़ी अपनी खेल सामग्री को लेकर अभ्यस्त होते हैं और इतने बड़े टूर्नमेंट से एक सप्ताह पहले उसे बदलना सही नहीं है।

ज्ञात रहे कि 'ईरान ग्रुप बी में है, जहां शुक्रवार को उसे मोरक्को के ख़िलाफ़ अपना पहला मैच खेलना है। इस ग्रुप में स्पेन और पुर्तगाल जैसी वर्ल्ड कप की दावेदार टीमें भी हैं। (RZ)

Jun १३, २०१८ २१:०३ Asia/Kolkata
कमेंट्स