• परमाणु समझौते से अमरीका के निकलने की भरपाई के लिए यूरोप की कार्यवाही महत्वपूर्ण हैः रूहानी

इस्लामी गणतंत्र ईरान के राष्ट्रपति डाक्टर हसन रूहानी ने यह बयान करते हुए कि इतिहास में परमाणु समझौता जेसीपीओए बहुत महत्वपूर्ण है, कहा कि परमाणु समझौते से अमरीका के ग़ैर क़ानूनी ढंग से निकलने की भरपाई कार्यवाही के लिए यूरोप की पारदर्शी कार्यवाहियां, बहुत ही महत्व रखती हैं।

राष्ट्रपति डाक्टर हसन रूहानी ने मंगलवार को तेहरान में ब्रिटेन के नये राजदूत राबर्ट मैकएयर का प्रत्ययपत्र स्वीकार करते हुए परमाणु समझौते पर हस्ताक्षर करने वाले कुछ पक्षों की ओर से बैंकिंग संबंधों, व्यापारिक और आर्थिक क्षेत्रों में परमाणु समझौते को पूर्ण रूप से लागू न किए जाने की आलोचना की और कहा कि ईरान, यूरोपीय देशों के साथ अच्छे संबंधों के लिए हमेशा तैयार है।

डाक्टर हसन रूहानी ने बल  दिया कि इस्लामी गणतंत्र ईरान कभी भी क्षेत्र में तनाव के प्रयास में नहीं रहा और वह नहीं चाहता कि अंतर्राष्ट्रीय जलमार्ग में कोई समस्या पैदा हो किन्तु वह कभी भी तेल निर्यात के अपने हक़ से पीछे नहीं हटेगा। 

डाक्टर हसन रूहानी ने इसी प्रकार द्विपक्षीय और अंतर्राष्ट्रीय मामलों में ईरानी और ब्रिटिश अधिकारियों की वार्ताओं और मुलाक़ातों को सकारात्मक बताया और कहा कि हालिया वर्षों के दौरान दोनों देशों के बीच संबंधों को बेहतर बनाने के लिए ईरान और ब्रिटेन के अधिकारियों के संकल्प अच्छे रहे हैं।

इस मुलाक़ात में तेहरान में ब्रिटेन के राजदूत ने कहा कि ब्रिटिश सरकार परमाणु समझौते को लागू किए जाने और इसको जारी रखने का समर्थन करती है। उन्होंने कहा कि आज परमाणु समझौते की रक्षा विशेषकर आर्थिक क्षेत्र की बहाली के लिए यूरोपीय देशों के व्यापक और अभूतपूर्व प्रयास जारी हैं। 

दूसरी ओर राष्ट्रपति रूहानी ने कहा कि हालिया वर्षों में ईरान और वियतनाम के संबंधों में विस्तार अच्छा रहा है। मंगलवार को तेहरान में वियतनाम के नये राजदूत का प्रत्ययपत्र स्वीकार करने के कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि दोनों देशों के बीच होने वाले संबंधों को बहुत शीघ्र लागू किया जाए ताकि यह दोनों राष्ट्रों के हित में महत्वपूर्ण क़दम सिद्ध हो। उन्होंने आर्थिक संबंधों को विस्तृत करने के मार्ग में दोनों देशों के बैंकिक संबंधों को मज़बूत किए जाने को महत्वपूर्ण बताया और कहा कि इस्लामी गणतंत्र ईरान दोनों देशों के बीच आर्थिक, राजनैतिक और सांस्कृतिक संबंधों को मज़बूत करने के लिए तैयार है।

इस मुलाक़ात में वियतनाम के नये राजदूत निगवीन मान हीन ने कहा कि वह अपनी तैनाती के दौरान दोनों देशों के बीच आर्थिक संबंधों को बेहतर बनाने के लिए प्रयास जारी रखेंगे।

उधर राष्ट्रपति डाक्टर हसन रूहानी ने कहा कि विभिन्न क्षेत्रों में ईरान और दक्षिणी कोरिया के बीच सहयोग से बहुत अधिक उपलब्धियां अर्जित हुई हैं। 

उन्होंने मंगलवार को दक्षिणी कोरिया के नये राजदूत यू जांग ह्यून का प्रत्ययपत्र स्वीकार करने के कार्यक्रम में कहा कि ईरान और दक्षिणी कोरिया के संबंध हमेशा से अच्छे और मैत्रीपूर्ण रहे हैं और हालिया वर्षों में दोनों देशों के बीच सहयोग में विस्तार भी हुआ है। (AK)

टैग्स

Jul ३१, २०१८ १६:५० Asia/Kolkata
कमेंट्स