• कुर्दों को कौन उकसा रहा है ईरान पर हमले के लिए?

ईरान के आईआरजीसी के चीफ़ ऑफ़ स्टाफ़ ने कहा है कि अमरीका इराक़ के अर्ध स्वायत्त कुर्दिस्तान क्षेत्र में मौजूद आतंकियों को पिछले साल से ईरान पर हमले के लिए उकसा रहा हैं, हालांकि इराक़ी कुर्दिस्तान क्षेत्र के अधिकारी ईरान पर हमला न करने का वचन दे चुके हैं।

मेजर जनरल मोहम्मद बाक़ेरी ने कुर्दिस्तान में आतंकियों के ठिकाने पर इस्लामी क्रान्ति संरक्षक बल आईआरजीसी की ओर से की गयी मीज़ाईल कार्यवाही की ओर मंगलवार को इशारा करते हुए कहा कि ईरानी राष्ट्र को अपनी रक्षा का अधिकार है।

उन्होंने कहा कि लगभग दो दशक पहले इराक़ी कुर्दिस्तान क्षेत्र और प्रतिबंधित कुर्दिस्तान डेमोक्रेटिक पार्टी के अधिकारियों ने लिखित रूप में वचन दिया था कि वह ईरान के ख़िलाफ़ किसी भी प्रकार की कार्यवाही नहीं करेंगे, लेकिन वे पिछले साल से अमरीका के उकसावे में अपने वचन पर अमल नहीं कर रहे हैं, जिसे हम सहन नहीं कर सकते इसलिए हमने उन्हें बारंबार चेतावनी दी।

आईआरजीसी ने एक बयान में इस बात की पुष्टि की कि उसने शनिवार को कुर्दिस्तान में आतंकियों के सरग़नाओं की सभा पर कम दूरी के सतह से सतह पर मार करने वाले मीज़ाईल से कार्यवाही की जिसमें आतंकियों को भारी नुक़सान पहुंचा। मेजर जनरल बाक़ेरी ने चेतावनी दी कि अगर असुरक्षा की स्थिति बनी रही तो आत्म रक्षा के तहत आतंकियों के सरग़नाओं के ख़िलाफ़ जवाबी कार्यवाही की जाएगी।

ईरान के आईआरजीसी के चीफ़ ऑफ़ स्टाफ़ ने कहा कि कुर्दिस्तान क्षेत्र के अधिकारी और इराक़ सरकार या तो आतंकियों को इस्लामी गणतंत्र ईरान के हवाले करे या ऐसा नहीं कर सकते तो उन्हें अपने देश से बाहर निकाले।(MAQ/N)

 

Sep ११, २०१८ १६:५८ Asia/Kolkata
कमेंट्स