• इराक़ में अमरीकी दूतावास और काउंसलेट के पास गिरे राकेट, वाशिंग्टन की तेहरान को धमकी

अमरीका ने कहा है कि यदि इराक़ में मौजूद अमरीकी नागरिकों को कोई नुक़सान पहुंचा तो इसके लिए ईरान को ज़िम्मेदार माना जाएगा।

वाइट हाउस ने मंगलवार को चेतावनी जारी की है और कहा कि यदि अमरीकी नागरिकों को इराक़ में कोई नुक़सान पहुंचा तो अमरीका ईरान को इसका उत्तर देगा।

इराक़ के दक्षिणी नगर बसरा में हिसंक प्रदर्शनों में 12 लोगों की मौत के बाद अमरीका की ओर से यह बयान आया है। क्योंकि जहां बसरा में ईरानी काउंसलेट को आग लगाई गई वहीं राजधानी बग़दाद में ग्रीन ज़ोर इलाक़े में तीन मार्टर गोले गिरे। ग्रीन ज़ोन बग़दाद का कड़ी सुरक्षा वाला क्षेत्र है जहां सरकारी संस्थान, विदेशी दूतावास स्थित हैं। इनमें अमरीकी दूतावास भी शामिल है। यही नहीं शुक्रवार को बसरा एयरपोर्ट पर कट्यूशा राकेट भी फ़ायर किए गए जहां अमरीकी काउंसलेट है।

वाइट हाउस की प्रवक्ता सारा सैंडर्ज़ ने आरोप लगाया कि पिछल कुछ दिनों के दौरान हमने इराक़ में कई घातक हमले देखे हैं। यह हमले बसरा में अमरीकी काउंसलेट और बग़दाद में अमरीकी दूतावास के पास हुए हैं। ईरान अपने छद्म संगठनों को रोनके लिए कुछ नहीं कर रहा है जिन्हें उसने हथियार और प्रशिक्षण दिया है।

सारा सैंडर्ज़ ने कहा कि यदि अमरीकी संस्थानों या नागरिकों को कोई नुक़सान पहुंचता है तो वाशिंग्टन सरकार इसके लिए ईरान को ज़िम्मेदार मानेगी और अमरीकी तत्काल इसका जवाब देगा।

अमरीका का बयान इराक़ी अधिकारियों के बिल्कुल विपरीत है जिन्होंने कहा कि हालिया हिंसक घटनाओं में जो हमले हुए हैं वह आतंकी संगठन दाइश तथा पूर्व बास पार्टी के तत्वों की ओर से किए गए हैं।

गत शुक्रवार को बसरा में प्रदर्शनों के दौरान ईरानी काउंसलेट पर हमला हुआ था और उसे आग लगा दी गई थी। इराक़ की स्वयंसेवी फ़ोर्स हश्दुशअबी के अधिकारी अबू महदी अलमुहंदिस ने कहा कि हमें पूरी जानकारी है कि बसरा में हिंसा के पीछे अमरीकी दूतावास और काउंसलेट का हाथ है।

Sep १२, २०१८ १२:२७ Asia/Kolkata
कमेंट्स