• 22 सितंबर 2018 को राष्ट्रपति रूहानी तेहरान में सैन्य परेड को संबोधित करते हुए
    22 सितंबर 2018 को राष्ट्रपति रूहानी तेहरान में सैन्य परेड को संबोधित करते हुए

राष्ट्रपति रूहानी ने कहा है कि अमरीकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प उसी तरह मुंह की खाएंगे जिस तरह ईरानियों ने इराक़ के पूर्व तानशाह सद्दाम को धूल चटायी थी।

उन्होंने, इराक़ द्वारा ईरान पर 1980 से 88 के बीच थोपे गए युद्ध के विरुद्ध 8 वर्षीय प्रतिरोध की याद में मनाए जाने वाले पवित्र प्रतिरक्षा सप्ताह के अवसर पर शनिवार को तेहरान में आयोजित सैन्य परेड को संबोधित करते हुए, यह बात कही।

ईरानी राष्ट्रपति ने कहाः "सद्दाम दुनिया और क्षेत्र की शक्तियों के समर्थन के बावजूद थोपी गयी जंग में अपना लक्ष्य नहीं साध सका।"

उन्होंने कहा कि ईरान ने सैन्य, राजनैतिक और नैतिक स्तर पर जीत हासिल की थी।

डॉक्टर हसन रूहानी ने कहाः "हमने अतिक्रमणकारी से अपना इलाक़ा वापस हासिल किया। संयुक्त राष्ट्र संघ और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने सद्दाम को हमलावार ठहराया और सद्दाम की मदद करने वाले सभी देशों ने बाद में खेद प्रकट करते हुए अपने अपने अपराध क़ुबूल किए।"

उन्होंने कहा कि यही कहानी ट्रम्प के साथ भी दोहरायी जाने वाली है और अमरीका का अंजाम भी सद्दाम जैसा होगा।

ईरानी राष्ट्रपति ने कहा कि आज सद्दाम के अतिक्रमण और 1975 के अल्जीरिया समझौते के उल्लंघन को 38 साल हो चुके हैं, अमरीकी सरकार सद्दाम की कहानी दोहरा रही है।

इसी प्रकार ईरानी राष्ट्रपति ने बल दिया कि ईरान अपने रक्षात्मक हथियार को विकसित करता रहेगा।

उन्होंने कहाः "ईरान न तो अपने रक्षात्मक हथियार छोड़ेगा और न ही उनकी रक्षात्मक क्षमता कम करेगा। हम अपनी रक्षात्मक क्षमता दिन ब दिन बढ़ाएंगे। आपका हमारे मीज़ाईल से क्रोधित होने का अर्थ यह है कि हमारा सबसे प्रभावी हथियार मीज़ाईल है।"(MAQ/N)

Sep २२, २०१८ १६:२० Asia/Kolkata
कमेंट्स