• अमरीका ने यूरोप की स्वाधीनता, सुरक्षा और प्रतिष्ठा को निशाना बनायाः ईरान

इस्लामी गणतंत्र ईरान के वरिष्ठ परमाणु वार्ताकार और उप विदेशमंत्री सैयद अब्बास इराक़ची ने कहा है कि अमरीकी प्रतिबंधों ने ईरान की अर्थव्यवस्था को नुक़सान पहुंचाने से अधिक यूरोप की स्वाधीनता, सुरक्षा और प्रतिष्ठा को निशाना बना रखा है।

ईरान के उप विदेशमंत्री ने शुक्रवार को स्पेन की राजधानी मैड्रिड में एक प्रेस कांफ़्रेंस में इस बात का उल्लेख करते हुए कि ईरान विरोधी अमरीकी प्रतिबंध, ग़ैर क़ानूनी और संयुक्त राष्ट्र संघ की सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव के विरुद्ध है, यह आशा व्यक्त की कि यूरोप वर्तमान स्थिति पर नियंत्रण पा लेगा।

उन्होंने परमाणु समझौते से अमरीका के निकलने की ओर संकेत करते हुए कहा कि आईएईए ने अब तक 13 रिपोर्टों में इस बात की पुष्टि की है कि ईरान ने परमाणु समझौते पर पूरी तरह अमल किया है। उनका कहना था कि फिर भी अमरीका ने अकारण इस समझौते से निकलने की घोषणा की और ट्रम्प के इस फ़ैसले के कारण अब भविष्य में कोई भी देश, वार्ता, कूटनीति और यहां तक कि सुरक्षा परिषद की गैरेंट और पुष्टि पर भरोसा नहीं करेगा।

ईरान के उप विदेशमंत्री ने इस प्रेस कांफ़्रेंस में ईरान और स्पेन के संबंधों का भी हवाला दिया और कहा कि परमाणु समझौते के बाद ईरान और स्पेन के संबंध नये चरण में प्रविष्ट हो गये हैं और स्पेन की तीन हज़ार से अधिक कंपनियां ईरान के साथ काम कर रही हैं। (AK)

टैग्स

Nov १६, २०१८ २३:२० Asia/Kolkata
कमेंट्स