• शक्तिशाली और शांत इराक़ पूरी शक्ति से दुश्मनों के मुक़ाबले में डट जाएः वरिष्ठ नेता

इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता आयतुल्लाहिल उज़मा सैयद अली ख़ामेनेई ने इराक़ी राष्ट्रपति बरहम सालेह से मुलाक़ात में दुश्मनों के मुक़ाबले में प्रतिरोध और डटे रहने की आवश्यकता पर बल दिया है।

इराक़ के राष्ट्रपति बरहम सालेह ने शनिवार की शाम तेहरान में वरिष्ठ नेता आयतुल्लाहिल उज़मा सैयद अली ख़ामेनेई से मुलाक़ात की।

वरिष्ठ नेता ने इस मुलाक़ात में इराक़ में सफल संसदीय चुनाव, राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और अन्य अधिकारियों के चयन और स्थिरता व सुदृढ़ता की स्थापना पर प्रसन्नता व्यक्त की।

वरिष्ठ नेता ने कहा कि समस्याओं पर विजय पाने और बुरा चाहने वालों के षड्यंत्रों को विफल बनाने का रास्ता यह है कि एकता और एकजुट की रक्षा की जाए, अपने दोस्तों और दुश्मनों को पहचाना जाए, अपमानित दुश्मनों के मुक़ाबले में प्रतिरोध और डटे रहने से काम लिया जाए, अपने जवानों पर भरोसा किया जाए और वरिष्ठ धर्मगुरुओं और नेतृत्व से अपने संबंध मज़बूत किए जाएं।

इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता ने इस मुलाक़ात में इराक़ का राष्ट्रपति चुने जाने पर बरहम सालेह को बधाई दी। उन्होंने इराक़ी और ईरानी राष्ट्रों के मज़बूत एेतिहासिक संबंधों की ओर संकेत करते हुए कहा कि दोनों देशों के राष्ट्रों के संबंध अद्वितीय हैं और अरबईन मिलियन मार्च इसका प्रमाण है। 

वरिष्ठ नेता ने इस साल अरबईन के अवसर पर ईरान और दुनिया के अन्य देशों से पहुंचने वाले दसियों लाख तीर्थयात्रियों के अद्वितीय आवभगत पर इराक़ की सरकार और जनता का आभार व्यक्त किया।

उन्होंने कहा कि इराक़ी जनता तानाशाही और अत्याचार के दौर के बाद अब अपने देश के स्वयं मालिक हैं और उन्हें स्वाधीनता, स्वतंत्रता और मतदान का हक़ हासिल है।

इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता ने कहा कि कुछ बुरा चाहने वाली सरकार इस प्रयास में हैं कि इराक़ी जनता अपनी इस भव्य सफलता से वंचित हो जाए और इराक़ तथा क्षेत्र में शांति और स्थिरता न रहे।

आयतुल्लाहिल उज़मा सैयद अली ख़ामेनेई ने कहा कि अनेक इराक़ी गुट, कुर्द, अरब, शीया और सुन्नी की एककजुटता और एकता की मज़बूती, इन षड्यंत्रों के मुक़ाबले का एकमात्र रास्ता है।

उन्होंने ईरान और इराक़ के बीच सहयोग में अधिक से अधिक विस्तार की आवश्यकता पर बल देते हुए कहा कि ईरानी अधिकारी इराक़ के साथ व्यापक सहयोग में विस्तार का मज़बूत इरादा रखते हैं और मैं भी इस पर विश्वास रखता हूं।

इस मुलाक़ात में जिसमें ईरान के राष्ट्रपति डाक्टर हसन रूहानी भी मौजूद थे, इराक़ के राष्ट्रपति बरहम सालेह ने वरिष्ठ नेता से मुलाक़ात को अपने लिए बहुत बड़ गर्व क़रार दिया और कहा कि हम ईरान के साथ सभी क्षेत्रों में पहले से अधिक सहयोग चाहते हैं। (AK)

टैग्स

Nov १७, २०१८ २२:१८ Asia/Kolkata
कमेंट्स