Dec १३, २०१८ १९:०० Asia/Kolkata
  • पाबंदियों के बावजूद, ईरान को अमरीका और ईयू के निर्यात ने लगायी छलांग, खेल कुछ और लगता है!!

ईरान के ख़िलाफ़ अमरीकी पाबंदियों के बावजूद अमरीका और योरोप का ईरान को निर्यात बढ़ रहा है।

ईरान के साथ परमाणु समझौते को बाक़ी रखने के विषय पर अमरीका और योरोपीय संघ के बीच जितना भी मतभेद हो लेकिन उनका व्यापार, अगस्त में तेहरान पर वॉशिंग्टन द्वारा दोबारा पाबंदी लगाए जाने के बाद से तेज़ी से बढ़ा है जिससे जिज्ञासा पैदा होती है।

एक ओर अक्तूबर में ईरान का अमरीका को निर्यात शून्य तक पहुंच गया तो दूसरी ओर अमरीका से आयात बढ़ गया है। यह बदलाव अमरीका की ओर से ईरान पर थोपे गए पहले चरण के प्रतबंध के एक महीने बाद दिखने में आया है।

इस दौरान जर्मनी का इस्लामी गणतंत्र ईरान को निर्यात बहुत बढ़ा है।

संघीय सांख्यिकी विभाग से जारी आधिकारिक आंकड़ा दर्शाता है कि जर्मन कंपनियों ने अक्तूबर में ईरान को 40 करोड़ यूरो मूल्य का निर्यात किया है जो पिछले साल की तुलना में 85 प्रतिशत वृद्धि को दर्शाता है।

जर्मनी द्वारा निर्यात होने वाली चीज़ों का लगभग 50 फ़ीसद भाग रासायनिक वस्तुओं से विशेष है, जिसके बाद मशीन और प्लांट उपकरण का स्थान है।

अमरीकी सेंसस ब्यूरो के अनुसार, ईरान की ओर से अमरीका को निर्यात में तेज़ी से कमी आयी है जबकि अक्तूबर में अमरीका की ओर से ईरान को निर्यात अपने उच्चतम स्तर पर था।

ईरान अमरीका को क़ालीन, सूखे मेवे और पिस्ते निर्यात करता है जबकि अमरीका से ज़्यादातर चिकित्सा उपकरण, दवाएं और कृषि उत्पाद आयात करता है।

जनवरी से अगस्त 2018 के बीच ईरान का अमरीका को निर्यात 35 फ़ीसद वृद्धि के साथ 6 करोड़ 75 लाख डॉलर पहुंचा लेकिन उसके बाद से यह मात्रा गिर कर शून्य पर पहुंच गयी।

जनवरी से अगस्त के बीच अमरीका का ईरान को निर्यात पिछले साल की तुलना में 273 फ़ीसद बढ़ कर 41 करोड़ डॉलर तक पहुंचा और उस समय से यह मात्रा ठहरी हुयी है। (MAQ/N)

कमेंट्स