Mar २०, २०१९ १५:२६ Asia/Kolkata
  • तेल के राष्ट्रीयकरण की घोषणा ने साम्रज्यवाद के हाथ काट डाले थे, क़ासमी

ईरान के विदेश मंत्रालय ने तेल के राष्ट्रीय करण दिवस के अवसर पर एक बयान जारी करके कहा है कि ईरानी राष्ट्र साम्राज्यवाद के ख़िलाफ़ लड़ाई में हमेशा आगे रहा है।

ग़ौरतलब है कि ईरानी संसद ने 20 मार्च 1951 को तेल के राष्ट्रीयकरण का बिल पारित किया था, जिसके बाद आधिकारिक रूप से ईरान में तेल का राष्ट्रीयकरण हो गया।

ईरान में तेल के राष्ट्रीयकरण के बाद, ब्रिटेन का ईरान के तेल उद्योग पर वर्चस्व समाप्त हो गया।

ईरानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हराम क़ासमी ने बुधवार को एक बयान जारी करके कहा है कि ईरानी राष्ट्र ने कभी भी अपनी स्वाधीतना और राष्ट्रीय सम्मान का सौदा नहीं किया है।

क़ासमी का कहना था कि तेल के राष्ट्रीयकरण के आंदोलन की सफलता का राज़, ईरानी राष्ट्र और उसके नेताओं की समझ और दूरगामी सोच में छुपा हुआ है। msm    

 

टैग्स

कमेंट्स