Mar २०, २०१९ २०:५० Asia/Kolkata
  • नौरोज़, दुनिया के लोगों के लिए शांति और मित्रता का ईरानी संदेश

ईरान में यूनेस्को के लिए राष्ट्रीय आयोग के महासचिव ने कहा है कि नौरोज़, ईरान सहित क्षेत्र के कई अन्य देशों की प्राचीन संस्कृति और सभ्यता का प्रतीक है। उन्होंने कहा कि नौरोज़ पूरी दुनिया के लोगों के लिए ईरान की ओर से शांति और मित्रता का प्राचीन संदेश भी है।

इस्लामी गणतंत्र ईरान में यूनेस्को के राष्ट्रीय आयोग के महासचिव हुज्जतुल्लाह अय्यूबी ने समाचार एजेंसी इर्ना से बातचीत करते हुए कहा कि नौरोज़ मनाने वाले राष्ट्र हमेशा दुनिया में शांति चाहते हैं। उन्होंने कहा कि अब जबकि नौरोज़ यूनेस्को के रेकॉर्ड में दर्ज हो चुका है तो चाहिए की इस संस्कृति को और अधिक बढ़ावा दिया जाए। अय्यूबी ने कहा कि जब यूरोप युद्धों में व्यस्त था और विभिन्न युद्धों के साथ-साथ विश्व युद्ध प्रथम और द्वितीय में भी वहां रक्तपात हो रहा था तब भी नौरोज़ मनाने वाले राष्ट्रों में शांति थी। उन्होंने कहा कि अगर उस समय किसी भी नौरोज मनाने वाले देश में युद्ध की चिंगारी आई भी तो वह दूसरे देशों ने उनपर थोपा था।

उल्लेखनीय है कि इस समय दुनिया के 18 से अधिक देशों में नौरोज़ का त्यौहार मनाया जाता है। जिनमें इस्लामी गणतंत्र ईरान, तुर्की, आज़रबाइजान, उज़्बेकिस्तान, किर्ग़िस्तान, कज़ाकिस्तान, अफ़ग़ानिस्तान, तुर्कामनिस्तान, ताजेकिस्तान, भारत, पाकिस्तान, और इराक आदि शामिल हैं। इनमें से ईरान सहित 12 देश ऐसे हैं जहां आधिकारिक रूप से ईदे नौरोज़ के दिन अवकाश होता है। (RZ)

 

टैग्स

कमेंट्स