Mar २१, २०१९ ०८:११ Asia/Kolkata
  • इस्लामी क्रान्ति के वरिष्ठ नेताः देश वासियों को नौरोज़ की बधाई, नया साल उत्पादन के विकास का साल

इस्लामी क्रान्ति के वरिष्ठ नेता आयतुल्लाहिल उज़्मा ख़ामेनई ने हिजरी शम्सी कैलेंडर के नए साल 1398 की शुरआत के उपलक्ष्य में नौरोज़ तथा हज़रत अली अलैहिस्सलाम के शुभ जन्म दिवस की बधाई दी और देशवासियों विशेषकर शहीदों के परिजनों तथा देश की रक्षा में लड़ते हुए घायल होकर शारीरिक रूप से असमर्थ जवानों और उनके परिवारों को विशेष रूप से मुबारकबाद पेश की।

इस्लामी क्रान्ति के वरिष्ठ नेता ने ईरानी राष्ट्र के लिए  ख़ुशियों, सौभाग्य, स्वास्थ्य और भौतिक तथा आध्यात्मिक सफलताओं से सुसज्जित नए साल की कामना करते हुए नए साल को उत्पादन के विकास का साल नामित किया।

इस्लामी क्रान्ति के वरिष्ठ नेता ने बीते हुए हिजरी शम्सी साल 1397 का मूल्यांकन करते हुए इसे महत्वपूर्ण घटनाओं का साल बताया और कहा कि इस साल में दुशमनों ने ईरान के ख़िलाफ़ बड़ी साज़िशें रचीं और मंसूबे तैयार किए लेकिन ईरानी राष्ट्र ने सही अर्थों में शानदार अंदाज़ से काम किया और अपनी दृढ़ता, दूरदर्शिता तथा युवाओं की हिम्मत से इन सभी साज़िशों को नाकाम कर दिया।

इस्लामी क्रान्ति के वरिष्ठ नेता ने अमरीका और यूरोप के कठोर प्रतिबंधों पर ईरान की जनता के जवाब को राजनैतिक और आर्थिक क्षेत्र में बहुत ठोस और शक्तिशाली जवाब ठहराया और कहा कि राजनैतिक मंच पर इस जवाब का प्रतीक 11 फ़रवरी के जुलूस तथा पूरे साल अलग अलग मामलों में जनता द्वारा लिया गया स्टैंड था जबकि आर्थिक मुक़ाबले के मैदान में वैज्ञानिक और तकनीकी आविष्कारों में वृद्धि, नालेज बेस्ड कंपनियों में भारी वृद्धि, देश के भीतर मूल संरचनाओं से संबंधित निर्माण कार्य जैसे दक्षिणी इलाक़े में गैस फ़ील्ड के विभिन्न फ़ेज़ का उद्घाटन और बंदर अब्बास में बड़ी रिफ़ाइनरी का उद्घाटन इसका प्रतीक है, ईरानी राष्ट्र ने दुशमनों की दुशमनी और दुष्टता के मुक़ाबले में अपनी शक्ति, वैभव और महानता का प्रदर्शन किया तथा राष्ट्र, क्रान्ति और इस्लामी लोकतांत्रिक व्यवस्था की प्रतिष्ठा बढ़ाई।

इस्लामी क्रान्ति के वरिष्ठ नेता ने आगे कहा कि देश की बुनियादी समस्या अब भी वही आर्थिक समस्या ही है। उन्होंने हालिया महीनों में आम जनता के रोज़मर्रा के जीवन में आने वाली कठिनाइयों का हवाला  देते हुए कहा कि इन कठियाइयों में कुछ का संबंध आर्थिक क्षेत्र में प्रबंधन की कमियों से है जिन्हे तत्काल दूर किया जाना चाहिए। इस्लामी क्रान्ति के वरिष्ठ नेता ने कहा कि कुछ कार्यक्रम और उपाय सोचे गए हैं जिनका नतीजा इस जारी वर्ष में मिलना चाहिए और इसके प्रभाव का जनता को आभास भी होना चाहिए।

इस्लामी क्रान्ति के वरिष्ठ नेता ने वर्ष 1397 हिजरी शम्सी अर्थात बीते साल के लिए ईरानी उत्पादों के समर्थन के नारे का जनता द्वारा स्वागत किए जाने और इसके सार्थक प्रभावों का हवाला देते हुए कहा कि इस साल असली और केन्द्रीय मुद्दा उत्पादन है क्योंकि यदि उत्पादन चल पड़े तो लोगों की रोज़मर्रा की समस्याएं भी कम होंगी, रोज़गार की समस्या भी हल होगी और देश को दुशमनों की ज़रूरत नहीं रहेगी यहां तक कि देश की करेन्सी के मूल्य में गिरावट की मुशकिल को काफ़ी हद तक हल किया जा सकता है अतः मैं उत्पादन के विकास को इस साल का नारा घोषित करता हूं।

इस्लामी क्रान्ति के वरिष्ठ नेता ने सभी का आहवान किया कि वे देश के भीतर उत्पादन को बढ़ावा देने की कोशिश करें।

टैग्स

कमेंट्स