Sep १२, २०१९ ०१:३६ Asia/Kolkata
  • मैंक्रां को रूहानी की दो टूक, प्रतिबंध और वार्ता एक साथ चलने वाले नहीं है

इस्लामी गणतंत्र ईरान के राष्ट्रपति डाक्टर हसन रूहानी ने बुधवार की रात फ़्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रां से टेलीफ़ोनी वार्ता में कहा कि एक अंतर्राष्ट्रीय बहुपक्षीय समझौते के रूप में परमाणु समझौते से अमरीका एकपक्षीय रूप से निकल कर अपने वचनों से भागने का सबूत दिया है।

उन्होंने कहा कि ईरान की सरकार, संसद और जनता की नज़र में प्रतिबंधों के साथ अमरीका से वार्ता अर्थहीन है। उन्होंने कहा कि जब यूरोप के साथ समझौता अंतिम चरण में पहुंच जाएगा तब ईरान परमाणु समझौते में अपने वचनों पर लौट आएगा और ईरान तथा गुट पांच धन एक के बीच बैठक उसी समय संभव है जब सारे प्रतिबंध उठा लिए जाएंगे।

इस्लामी गणतंत्र ईरान के राष्ट्रपति डाक्टर हसन रूहानी ने फ़्रांसीसी राष्ट्रपति के प्रयासों की सराहना करते हुए परमाणु समझौते में वचनों को कम करने के ईरान के तीसरे क़दम की ओर संकेत करते हुए बल दिया कि ईरान का तीसरा क़दम, अंतर्राष्ट्रीय परमाणु समझौते की निगरानी में है और साथ ही वापसी के योग्य भी है।

डाक्टर हसन रूहानी ने इसी प्रकार परमाणु समझौते की मज़बूती तथा ओमान सागर और फ़ार्स की खाड़ी सहित दुनिया के जलक्षेत्रों की सुरक्षा, ईरान का दो मुख्य लक्ष्य क़रार दिया और इसको यूरोपीय संघ तथा अमरीका सहित दुनिया के हित में क़रार दिया। 

राष्ट्रपति रूहानी ने कहा कि परमाणु समझौता को सभी के लिए बड़ा अवसर क़रार दिया ताकि ईरान के विकास की ओर अग्रसर अर्थव्यवस्था में शामिल हों और पूंजीनिवेश करें। (AK)

कमेंट्स