Jul २८, २०१६ १३:३२ Asia/Kolkata
  • साएब उरैक़ात (फ़ाइल फ़ोटो)
    साएब उरैक़ात (फ़ाइल फ़ोटो)

अतिग्रहित क्षेत्रों में इस्राईल द्वारा फ़िलिस्तीनियों के घरों को तेज़ी से ढाए जाने के मद्देनज़र फ़िलिस्तीनियों ने इस संदर्भ में अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से अपील की है कि वह तेल अबिब पर दबाव डाले ताकि वह और परिवारों को बेघर करने का दुस्साहस न करे।

फ़िलिस्तीन स्वतंत्रता संगठन पीएलओ के सचिव साएब उरैक़ात ने बुधवार को कहा, “पिछले 24 घंटों के दौरान इस्राईल ने अतिग्रहित पश्चिमी तट और पूर्वी अलक़ुद्स में 30 से ज़्यादा परिवारों को उनके घर गिराकर बेघर कर दिया है।”

उन्होंने कहा, “अतिग्रहण में रह रही निहत्थी जनता के ख़िलाफ़ भारी संख्या में सैनिकों के साथ बर्बरतापूर्ण हमला इस बात का स्पष्ट संकेत है कि इस्राईल अतिग्रहित फ़िलिस्तीन में अवैध कॉलोनियों के निर्माण को तेज़ करने के साथ ही फ़िलिस्तीनियों को बल पूर्वक बेघर करना चाहता है।”

बुधवार को इस्राईल ने ख़लील शहर(हिब्रोन) के पूर्वोत्तर में सूरिफ़ इलाक़े में बक्तर बंद वाहनों और भारी संख्या में सैनिकों को भेजा, जहां इस्राइली सैनिकों ने 29 साल के फ़िलिस्तीनी जवान मोहम्मद फ़क़ीह का घर ढाने के बाद उसे जान से मार दिया।

2 फ़रवरी 2016 को अतिग्रहित पश्चिमी तट के ख़लील शहर के मुसाफ़िर जंबा इलाक़े में एक फ़िलिस्तीनी महिला एक बच्चे को लिए अपने घर के सामने बैठी है, जिसे इस्राइली सैनिकों ने ढाया है

 

साएब उरैक़ात ने इस्राईल की बढ़ती बर्बरता पर अंतर्राष्ट्रीय समुदाय की ख़ामोशी की भर्तस्ना यह कहते हुए की, “उदासीनता और ख़ामोशी इस्राईल को फ़िलिस्तीनियों के अधिकारों का हनन करने के लिए और दुस्साहसी बना रही है।”

उन्होंने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय समुदाय तुरंत नोटिस ले, हमारी जनता को ज़रूरी सुरक्षा दे और इस्राईल को उसके अपराध के लिए दोषी ठहराए।(MAQ/N)

 

टैग्स

कमेंट्स