• क्षेत्रीय देश, दाइश की समाप्ति में मदद करेंः अलएबादी

इराक़ के प्रधानमंत्री ने दाइश की समाप्ति के लिए क्षेत्रीय देशों के समर्थन का आह्वान किया है।

हैदर अलएबादी ने शनिवार को बग़दाद में इस्लामी जागरूकता की उच्च परिषद की नवीं बैठक में कहा कि अब आतंकवादी गुट दाइश का अंत निकट है। इराक़ के प्रधानमंत्री ने कहा कि इराक़ की सरकार की मुख्य चिंता, आम लोगों को दाइश के चंगुल से स्वतंत्र कराने की है। उन्होंने इस बात पर बल देते हुए कि इराक़ी जनता दाइश के विनाश के लिए एकजुट हो चुकी है, कहा कि उनके देश के सामने आतंकवाद की गंभीर चुनौती है। हैदर अलएबादी ने कहा कि दाइश के विरुद्ध युद्ध में तुर्की को बिल्कुल भी रुचि नहीं है बल्कि वह अपने निजी हितों के दृष्टिगत इराक़ में अपना प्रभाव बढ़ाना चाहता है।

 

इस बीच इराक़ के संसद सभापति ने कहा कि शीघ्र ही दाइश के विरुद्ध युद्ध में मिलने वाली सफलता के बारे में विस्तार से बताया जाएगा। सलीम अलजुबूरी ने कहा कि आतंकवादियों को देश से निकाल बाहर करने के लिए क्षेत्र में मिल-जुल कर वार्ता करने की आवश्कयता है। उन्होंने कहा कि इराक़, मानवता की ओर से आतंकवाद के विरुद्ध युद्ध कर रहा है।

 

इस्लामी जागरूकता की उच्च परिषद के महासचिव ने भी कहा कि क्षेत्र में इस्लामी प्रतिरोध के मोर्चे ने हालिया वर्षों में उल्लेखनीय सफलताएं अर्जित की हैं, जो इस्लामी जागरूकता का सुदृढ़ समर्थक रहा है। अली अकबर विलायती ने इस सम्मेलन में कहा कि यह बैठक एेसी स्थिति में आयोजित हो रही है कि जब पश्चिमी एशिया, बहुत ही संवेदनशील चरण से गुज़र रहा है। उन्होंने बल देकर कहा कि सीरिया में आतंकवादी गुटों की हिंसक गतिविधियों के बावजूद इस देश की जनता और सेना, कड़े प्रतिरोध का प्रदर्शन कर रही है। अली अकबर वेलायती ने कहा कि सीरिया, इराक़, यमन, बहरैन, लीबिया और अन्य स्थानों के संकटों के पीछे सऊदी अरब की भूमिका पूर्ण रूप से स्पष्ट हो चुकी है। उन्होंने कहा कि वहाबियत, अब भी पैसे ख़र्च करके इस्लामी जगत में नित नए संकट उत्पन्न कर रही है। (QR)

Oct २२, २०१६ १५:१३ Asia/Kolkata
कमेंट्स