Dec ११, २०१६ १०:१६ Asia/Kolkata
  • 10 दिसंबर 2016 को यमन के दक्षिणी शहर अदन में सैन्य कैंप में आत्मघाती हमले के बाद एक घायल व्यक्ति को एंब्यूलेंस से ले जाते हुए
    10 दिसंबर 2016 को यमन के दक्षिणी शहर अदन में सैन्य कैंप में आत्मघाती हमले के बाद एक घायल व्यक्ति को एंब्यूलेंस से ले जाते हुए

यमन के दक्षिणी शहर अदन में एक बम धमाके में पूर्व राष्ट्रपति मंसूर हादी के समर्थक 45 सैनिक मारे गए।

स्थानीय सुरक्षा अधिकारियों के अनुसार, शनिवार को यह धमाका अदन में एक सैन्य छावनी में हुआ जहां बड़ी संख्या में सैनिक अपनी तनख़्वाह का चेक लेने के लिए इकट्ठा थे कि एक आत्मघाती ने ख़ुद को धमाके से उड़ा लिया। इस हमले में 50 सैनिक घायल भी हुए हैं।

सोशल मीडिया साइट पर पोस्ट हुए बयान में आतंकवादी गुट दाइश ने इस हमले की ज़िम्मेदारी ली है लेकिन इस दावे की पुष्टि नहीं हो सकी थी। अदन शहर पर इस समय सऊदी समर्थित फ़ोर्स का नियंत्रण है।

तकफ़ीरी आतंकवादी यमन पर सऊदी अरब के निरंतर जारी हमले से उत्पन्न स्थिति से फ़ायदा उठा रहे हैं।

यमन पर 26 मार्च 2015 से सऊदी अरब का हमला जारी है। इन हमलों में अब तक यमनी मॉनिट्रिंग ग्रुप के अनुसार, कम से कम 11400 बेगुनाह नागरिक मारे जा चुके हैं।

मंसूर हादी 2014 में इस्तीफ़ा देने के बाद सऊदी अरब फ़रार हो गए थे। वह नवंबर 2015 में अदन लौटे।

 

नजरान में 4 सऊदी सैनिक मारे गए

 

दूसरी ओर यमन पर सऊदी अरब के जारी अतिक्रमण के जवाब में यमनी फ़ोर्सेज़ की कार्यवाही में कम से कम 4 सऊदी सैनिक मारे गए।

अंसारुल्लाह के जियालों ने घटक फ़ोर्स के साथ मिलकर सऊदी अरब के दक्षिणी क्षेत्र नजरान में स्थित सऊदी अरब की एक सैन्य छावनी पर कार्यवाही की। इस कार्यवाही में कई सऊदी सैनिक घायल भी हुए हैं।

यमनी फ़ोर्सेज़ ने इसी प्रकार दक्षिण-पश्चिमी सीमावर्ती क्षेत्र जीज़ान में उस स्थान पर तोपख़ानों और रॉकेट से कार्यवाही की जहां सऊदी सैनिक इकट्ठा थे। (MAQ/N)

 

 

टैग्स

कमेंट्स