विदेशमंत्रालाय की ओर से जारी विज्ञप्ति में आशा जताई गयी है कि सीरिया संकट के समाधान के संबंध में “आस्ताना” वार्ता प्रक्रिया और दूसरे अंतरराष्ट्रीय प्रयासों से सीरिया संकट के समाधान की भूमि शीघ्र प्रशस्त हो जायेगी।

सीरिया संकट के समाधान के संबंध में ईरान, रूस और तुर्क की सम्मिलिति से विशेषज्ञ दल की तेहरान में होने वाली संयुक्त बैठक एक विज्ञप्ति जारी करके समाप्त हो गयी।

इस दो दिवसीय बैठक में पिछले वर्ष 30 दिसंबर को सीरिया में घोषित युद्ध विराम से संबंधित सहमति पत्र और इसी प्रकार बंदियों और अपहरित लोगों के आदान- प्रदान की समीक्षा की गयी। इस बैठक में राष्ट्रसंघ के विशेषज्ञों का एक प्रतिनिधिमंडल भी मौजूद था।

इस बैठक की समाप्ति पर ईरानी विदेशमंत्रालय की ओर से जो विज्ञप्ति जारी हुई उसमें आतंकवाद, सीरियाई- सीरियाई पक्षों के मध्य वार्ता द्वारा सहमति सहित सीरिया संकट के मानवीय और ग़ैर मानवीय समस्त पहलुओं पर ध्यान दिये जाने पर बल दिया गया।

इसी प्रकार विदेशमंत्रालाय की ओर से जारी विज्ञप्ति में आशा जताई गयी है कि सीरिया संकट के समाधान के संबंध में “आस्ताना” वार्ता प्रक्रिया और दूसरे अंतरराष्ट्रीय प्रयासों से सीरिया संकट के समाधान की भूमि शीघ्र प्रशस्त हो जायेगी।

तेहरान में विदेशमंत्रालय की ओर से जारी होने वाली विज्ञप्ति इस बात की सूचक है कि सीरिया संकट के समाधान के लिए होने वाला प्रयास विकास की दिशा में आगे बढ़ रहा है। यह बैठक वास्तव में सीरिया संकट के समाधान के लिए ईरान और रूस की ओर से किये जाने वाले प्रयायों के परिप्रेक्ष्य में हुई और बाद में तुर्की ईरान और रूस की ओर से किये जाने वाले प्रयासों से जुड़ गया।

सीरिया संकट के समाधान के लिए ईरान, रूस और तुर्की की सम्मिलिती से मॉस्को में जो त्रिपक्षीय बैठक हुई थी उसमें सीरिया में युद्ध विराम पर सहमति बनी थी और उसके बाद आस्ताना बैठक हुई थी और उस बैठक में भाग लेने वाले समस्त पक्षों ने सीरिया की संप्रभुता और आतंकवाद से मुकाबले पर बल दिया था।

बहरहाल सीरिया संकट के समाधान के लिए जो बैठक तेहरान में हुई उसमें लगभग दो सप्ताह बाद सीरिया संकट के समाधान के लिए आस्ताना में होने वाली अंतरराष्ट्रीय बैठक के लिए भूमि प्रशस्त करने का प्रयास किया गया। MM

 

Apr २०, २०१७ २१:०५ Asia/Kolkata
कमेंट्स