• पूरी दुनिया दे दें तब भी ईरान से दुश्मनी नहीं करेंगे, हैदर अलएबादी

इराक़ी प्रधान मंत्री हैदर अलएबादी ने उपराष्ट्रपति इयाद अल्लावी के बयान की आलोचना करते हुए बल दिया कि जब तक इराक़ के हित ख़तरे में नहीं पड़ते उस वक़्त तक इराक़ क्षेत्रीय झड़पों में नहीं कूदेगा और किसी को इराक़ के ज़रिए ईरान से दुश्मनी नहीं करने देगा।

समाचार एजेंसी फ़ार्स के अनुसार, हैदर अलएबादी ने शनिवार की रात एक भाषण में कहा कि इराक़ क्षेत्रीय राजनीति के बखेड़े में नहीं पड़ेगा। उन्होंने बल दिया कि बग़दाद सीरिया में सिर्फ़ इस देश की सरकार को मान्यता देता है और किसी दूसरे गुट से किसी प्रकार का सहयोग नहीं कर रहा है।

फ़ुरात न्यूज़ के अनुसार, इराक़ी प्रधान मंत्री ने अपने भाषण में सबसे पहले ईरान व क़तर के ख़िलाफ़ इयाद अल्लावी के बयान की आलोचना करते हुए कहा कि उपराष्ट्रपति का बयान स्वीकार्य नहीं है और इराक़ की आड़ में क्षेत्रीय देशों के ख़िलाफ़ दृष्टिकोण अपनाना सही नहीं है। उन्होंने कहा कि मुझे लगता है अल्लावी ने क़तर की आलोचना के ज़रिए मिस्र को ख़ुश करने की कोशिश की लेकिन कुछ इराक़ी हल्क़े चाहते हैं कि हम क़तर के मुक़ाबले में सऊदी अरब का समर्थन करें या इसके विपरीत क़दम उठाएं लेकिन यह ग़लत है और इस मामले में इराक़ को कोई फ़ायदा नहीं पहुंचेगा।

इराक़ी प्रधान मंत्री ने ईरान, सऊदी अरब और कुवैत के अपने दौरे के बारे में कहा कि उनका यह दौरा तीन दिवसीय है जो रविवार से शुरु हो रहा है।

इसी प्रकार उन्होंने बल दिया कि उनके इस दौरे का सऊदी और क़तर के बीच पैदा हुए संकट से कोई लेना-देना नहीं है बल्कि यह दौरा पहले से तय था। इराक़ी प्रधान मंत्री ने बताया कि सऊदी अरब के दौरे में आतंकवाद के ख़िलाफ़ संघर्ष और सऊदी अरब के साथ बहुआयामी संबंध में विस्तार के बारे में सऊदी अधिकारियों से विचार विमर्श होगा। उन्होंने बताया कि ईद के बाद भी वह कई विदेशी दौरे पर जाएंगे।

इराक़ी प्रधान मंत्री ने आगे कहा कि वह इस बात की इजाज़त नहीं देंगे कि इराक़ ईरान और अमरीका के बीच झड़प का मैदान बने या इराक़ की भूमि ईरान से दुश्मनी का ज़रिया बने। हैदर अलएबादी ने कहा कि अगर पूरी दुनिया का नेतृत्व हमे दें या इराक़ के फ़्री पुनर्निर्माण का वादा करें तब भी हम ईरान से दुश्मनी नहीं करेंगे।

उन्होंने इसी प्रकार अपने भाषण में अमरीकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प को राजनेता नहीं बल्कि एक व्यापारी व्यक्ति बताते हुए कहा कि जिस समय ट्रम्प राष्ट्रपति बने तो इस बात का डर था कि कहीं फ़ार्स खाड़ी में जंग शुरु न हो जाए लेकिन ट्रम्प की टीम ने इस डर को कम कर दिया है।

इराक़ के सशस्त्र बल के कमान्डर हैदर अलएबादी ने इसी प्रकार इराक़ी फ़ोर्सेज़ की सीरिया की सीमा तक प्रगति की सराहना की और साथ ही अमरीका की ओर से एसडीएफ़ फ़ोर्सेज़ को समर्थन की आलोचना करते हुए कहा कि इस समर्थन के कारण सीरिया का बटवारा हो सकता है।

इराक़ी प्रधान मंत्री ने इराक़-सीरिया के बीच संयुक्त क्षेत्रों और वलीद पास की आज़ादी की पुष्टि और निकट भविष्य में अन्ह, रावह और अलक़ाएम इलाक़ों की आज़ादी की ख़बर देते हुए उम्मीद जतायी कि अमरीका इराक़ से मिली सीरिया की सीमा पर मौजूद नहीं रहेगा। (MAQ/N)

 

Jun १८, २०१७ १३:०५ Asia/Kolkata
कमेंट्स