अमरीका ने दाइश के ठिकानों पर बमबारी कर रहे सीरिया के एक युद्धक विमान को मार गिराया है।

रविवार को सीरिया युद्धक विमान एसयू-22 रक्क़ा में आतंकवादियों के ठिकानों पर बम गिरा रहा था, उसी समय अमरीकी युद्धक विमान एफ़ए-18ई ने उसे मार गिराया।

 

सीरियाई सेना ने कहा है कि अमरीका द्वारा गिराए गए युद्ध विमान का पायलट अभी तक लापता है।

सीरियाई सेना ने एक बयान जारी करके कहा है कि उसके युद्धक विमान को ऐसी हालत में निशाना बनाया गया है, जब सेना और उसके सहयोगी लड़ाके तकफ़ीरी आतंकवादी गुट दाइश के ख़िलाफ़ लड़ाई में प्रगति कर रहे हैं और आतंकवादियों की हार हो रही है।

बयान में उल्लेख किया गया है कि यह हमला आतंकवाद के ख़िलाफ़ लड़ाई में सीरियाई सेना की प्रगति को रोकने के उद्देश्य से किया गया है, लेकिन वे (अमरीकी और उसके सहयोगी देश) सीरिया में आतंकवाद को पराजित होने से नहीं रोक संकेगे।

अमरीकी सैन्य गठबंधन ने बयान जारी करके कहा है कि उसका उद्देश्य इराक़ और सीरिया में दाइश को हराना है और वह सीरियाई सरकार, रूस और सीरियाई समर्थक सहयोगियों से युद्ध नहीं चाहता है, लेकिन गठबंधन एवं अपने सहयोगियों को किसी भी प्रकार के ख़तरे से बचाने के लिए हिचकिचाहट से काम नहीं लेगा।

अमरीका द्वारा सीरियाई जैट विमान को गिराए जाने पर मास्को ने कड़ी प्रतिक्रिया जताते हुए अमरीकी गठबंधन को चेतावनी दी है।

रूस ने सीरिया में अमरीकी युद्धक विमानों को मार गिराने की धमकी देते हुए कहा है कि वह सीरिया में उड़ने वाली हर चीज़ को मार गिराएगा।

रूस के रक्षा मंत्रालय ने कहा है कि सीरिया में विमानों के टकराव को रोकने के लिए स्थापित की गई रूस और अमरीका के बीच हॉटलाइन को वह बंद कर रहा है।   

रूस के उप विदेश मंत्री सरगेई रियाबकोफ़ ने सोमवार को कहा कि सीरियाई सेना के ख़िलाफ़ शक्ति के इस्तेमाल के प्रति मास्को, वाशिंग्टन को चेतावनी दे रहा है।

मास्को ने कहा है कि वाशिंग्टन की इस प्रकार की कार्यवाही, रूस को भी इसी तरह का क़दम उठाने पर मजबूर कर देगी। msm

 

 

Jun १९, २०१७ १६:५८ Asia/Kolkata
कमेंट्स