• अंसारुल्लाह आंदोलन के नेता अब्दुल मलिक हूसी 23 जून 2017 को विश्व क़ुद्स दिवस पर टेलीविजन पर सजीव भाषण देते हुए
    अंसारुल्लाह आंदोलन के नेता अब्दुल मलिक हूसी 23 जून 2017 को विश्व क़ुद्स दिवस पर टेलीविजन पर सजीव भाषण देते हुए

यमन के अंसारुल्लाह आंदोलन के नेता अब्दुल मलिक बदरुद्दीन हूसी ने क्षेत्रीय देशों में ईरानोफ़ोबिया को भड़का कर इस्राईल की ख़तरनाक नीतियों की ओर से ध्यान हटाने के प्रयास की भर्त्सना की है।

उन्होंने शुक्रवार तड़के विश्व क़ुद्स दिवस के अवसर पर टेलीविजन पर भाषण में यमनी जनता को संबोधित करते हुए, इस्राईल के ख़िलाफ़ संयुक्त मोर्चे को ज़रूरी बताया और क्षेत्रीय प्रतिरोध आंदोलनों का समर्थन करने पर ईरान और सीरिया की सराहना की।

ग़ौरतलब है कि सऊदी अरब सहित क्षेत्र में अमरीका के कुछ घटकों ने ईरान पर आतंकवाद का समर्थन करने का बेबुनियाद इल्ज़ाम लगाया है और नव नियुक्त सऊदी युवराज मोहम्मद बिन सलमान ने ईरान के भीतर लड़ाई लड़ने की बात कही है।

ईरान ने आतंकवाद के समर्थन के इल्ज़ाम को कड़ाई से रद्द किया है। ईरान का कहना है कि उसका रक्षा कार्यक्रम आतंकवाद के ख़िलाफ़ लड़ाई में सुरक्षा और क्षेत्रीय स्थिरता में योगदान देने की निवारक कोशिश है। (MAQ/N)

 

 

टैग्स

Jun २३, २०१७ ०८:५६ Asia/Kolkata
कमेंट्स