• तुर्क़ी और इराक़ी कुर्दिस्तान क्षेत्र की हवाई सीमा बंद

तुर्की की राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद ने सोमवार 16 अक्तूबर को एक बैठक के बाद एक बार फिर इराक़ की राष्ट्रीय संप्रभुता पर बल देते हुए सुझाव दिया है कि इराक़ी कुर्दिस्तान के लिए भी तुर्की की हवाई सीमाएं बंद कर दी जाएंगी।

तुर्की की राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद की इस सलाह को सरकार ने तुरंत मान लिया और उसके फ़ौरन बाद सरकार को इराक़ी कुर्दिस्तान के लिए अपनी हवाई सीमाएं बंद करने के लिए क़ानूनी रास्ता मिल  गया है किन्तु अब यह प्रश्न उठता है कि इसके व्यवहारिक होने से पहले तक तुर्क सरकार को कुछ सवालों के जवाब देने होंगे।

तुर्की की राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद ने कहा कि यह फ़ैसला इराक़ की राष्ट्रीय संप्रभुता की रक्षा करने के लिए लिया गया है। राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के फ़ैसले पर मुहर लगाने के बाद तुर्की की सरकार ने इस परिषद को सुझाव दिया है कि वह इराक़-तुर्की की सीमा पर स्थित इब्राहीम ख़लील पास का नियंत्रण इराक़ की केन्द्रीय सरकार के हवाले करे।

अलअरबिया टीवी चैनल ने भी अलख़लील पास को बंद करने पर तुर्की की सहमति की ओर संकेत करते हुए रिपोर्ट दी है कि तुर्की ने कुर्दिस्तान की सीमा के साथ मिले ख़ाबूर पास का नियंत्रण इराक़ की केन्द्र सरकार के हवाले कर दिया है। तुर्की की राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद की बैठक की अध्यक्षता तुर्क राष्ट्रपति रजब तैयब अर्दोग़ान ने की । यह बैठक कुर्दिस्तान के जनमत संग्रह के बारे में चर्चा के लिए बुलायी गयी थी। इस प्रकार से तुर्की की राष्ट्रीय परिषद ने रजब तैयब अर्दोग़ान की उस अपील को स्वीकार कर लिया है जो उन्होंने इराक़ी कुर्दिस्तान के जनमत संग्रह पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए की थी।

क्षेत्रीय और अंतर्राष्ट्रीय विरोधों के बावजूद 25 सितंबर को मसऊद बारेज़ानी के आग्रह पर कुर्दिस्तान में जनमत संग्रह आयोजित हुआ। मसऊद बारेज़ानी का यह कदम इराकी संविधान का उल्लंघन है। 

Oct १७, २०१७ १७:३२ Asia/Kolkata
कमेंट्स