• करकूकः घर लौटने लगे निवासी, इराक़ी प्रधानमंत्री ने कहा कि रेफ़रेन्डम अब अतीत बन चुका है

इराक़ में करकूक शहर पर इराक़ी फ़ोर्सेज़ का पूर्ण नियंत्रण हो जाने के बाद हज़ारों लोग जो घरबार छोड़कर भाग गए थे अपने घरों कौ लौट रहे हैं।

शहर के पूर्वी भाग को जाने वाले हाईवे पर शहर के निवासियों की भारी भीड़ देखी गई जो कुर्द फ़ोर्स पीशमर्गा और इराक़ी फ़ोर्सेज़ के बीच टकराव के डर से शहर छोड़कर चले गए थे।

शहर से भागे लोगों को पुलिस ने घर लौटने का सुझाव दिया और आश्वासन दिलाया कि हालात अब सामान्य हैं। इस समय शहर में रात का कर्फ़्यू लगाया गया है।

टीवी पर प्रसारित होने वाले अपने भाषण में इराक़ी राष्ट्रपति फ़ुआद मासूम ने कहा कि फ़ोर्सेज़ के पास करकूक का संचालन अपने हाथ में लेने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचा क्योंकि कुर्द अधिकारियों ने अलगाववाद के मुद्दे पर जनमत संग्रह करवाया था।

फुआद मासूम ने जो ख़ुद भी कुर्द हैं कहा कि अलगाववाद के मुद्दे पर कराए गए रेफ़रेन्डम ने ख़तरनाक विवाद खड़े कर दिए।

प्रधानमंत्री हैदर अलएबादी ने भी कहा कि कुर्दिस्तान का रेफ़रेन्डम अब अतीत बन चुका है। बग़दाद मे एक पत्रकार सम्मेलन में हैदर अलएबादी ने कहा कि संविधान के दायरे में रहते हुए विवादों के हल के लिए कुर्द अधिकारियों से बातचीत होगी।

इराक़ की अलफ़ुरात न्यूज़ एजेंसी ने बताया कि शहर की सरकारी सरकारी इमारतों पर इराक़ी फ़ोर्सेज़ का नियंत्रण है। करकूक का एयरपोर्ट, सैनिक छावनी और तेल के कुएं सब इराक़ी फ़ोर्सेज़ के नियंत्रण में हैं।

इराक़ी बलों ने करकूक को बग़दाद से जोड़ने वाला हाईवे भी खोल दिया है।

करकूक के कुछ भागों पर कुर्द फ़ोर्सेज़ ने वर्ष 2014 में उस समय क़ब्ज़ा कर लिया था जब इराक़ में दाइश का संकट उत्पन्न हुआ था। इराक़ी सरकार ने कुर्द फ़ोर्सेज़ से कहा था कि वह उन इलाक़ों को छोड़ दें जो केन्द्र सरकार के नियंत्रण में रहते हैं लेकिन कुर्द फ़ोर्सेज़ ने पीछे हटने से इंकार किया था।

Oct १८, २०१७ ०९:३२ Asia/Kolkata
कमेंट्स