• पूर्वी ग़ोता पर प्रस्ताव से पाकिस्तान अलग हुआ

संयुक्त राष्ट्र संघ की ओर से सीरिया के क्षेत्र पूर्वी ग़ोता में मानवाधिकार की स्थिति से संबंधित प्रस्तावित प्रस्ताव पर मतदान के दौरान पाकिस्तान ने वोट देने से बचते हुए दावा किया है कि इस प्रस्ताव से स्थिति और भी राजनैतिक हो जाएगी।

संयुक्त राष्ट्र संघ की मानवाधिकार परिषद की एक रिपोर्ट में बताया गया है कि परिषद की बैठक में सीरिया के पूर्वी ग़ोता के क्षेत्र में मानवाधिकार की स्थिति पर एक प्रस्ताव पेश किया गया है।

मानवाधिकार परिषद में पेश किए गये इस प्रस्ताव के समर्थन में 29 देशों ने मतदान किया और 4 देशों ने इसके विरोध में मतदान किया है जबकि 14 देशों ने मतदान में भाग नहीं लिया। सीरिया के बारे में पेश किए गये प्रस्ताव में जिन देशों ने मतदान में भाग नहीं लिया उनमें पाकिस्तान, इराक़, मिस्र, कीनिया, दक्षिणी अफ़्रीक़ा, नाइजीरिया, नेपाल इत्यादि शामिल हैं।

रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान ने वोट देने से इनकार पर ब्योरा देते हुए सीरिया में मानवाधिकार के उल्लंघनों पर चिंता व्यकत की है। पाकिस्तान की ओर से कहा गया है कि मानवाधिकार का यह प्रस्ताव केवल मामले को राजनैतिक रंग देगा क्योंकि यह प्रस्ताव यदि एक जीवन भी बचा सकता तो पाकिस्तान इसके समर्थन में वोट देता। (AK)

Mar ०८, २०१८ १५:०९ Asia/Kolkata
कमेंट्स