यमन की सेना और स्वयं सेवी बल के जवान 2015 से कम संसाधन और हथियारों से सऊदी अरब और उसके घटकों के आधुनिक हथियारों और विमानों की बमबारी के सामने प्रतिरोध कर रहे हैं।

यमनी जनता के भीतर यदि साहस, अतिक्रमणकारियों से युद्ध और देश प्रेम की भावना न होती तो न जाने कब के वह अमरीका और पश्चिम समर्थक सऊदी गठबंधन के सामने नतमस्तक हो चुके होते। कम संभावनाओं और हथियारों से लड़ना और दुश्मनों के होश उड़ा देना कोई यमनियों से सीखे। उक्त वीडियो में एक यमनी जवान आमने सामने के युद्ध में पत्थर से हमलावरों के होश ठिकाने लगा देता है।

टैग्स

Sep ०६, २०१८ १५:२९ Asia/Kolkata
कमेंट्स