फ़िलिस्तीन के इस्लामी प्रतिरोध आंदोलन हमास ने बैतुल मुक़द्दस के अस्पतालों की अमरीका द्वारा वित्तीय सहायता की कटौती पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए वाशिंग्टन की इस कार्यवाही को द डील आफ़ सेन्चुरी को थोपने के लिए अर्थहीन प्रयासों का जारी रहना क़रार दिया है।

अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प ने फ़िलिस्तीनियों के विरुद्ध अपनी शत्रुतापूर्ण नीतियां जारी रखते हुए बैतुल मुक़द्दस के अस्पतालों के लिए अमरीका की दो करोड़ डाॅलर की सहायता काट दी है। अमरीकी सरकार ने इससे पहले पहली सितम्बर को संयुक्त राष्ट्र संघ की संस्था यूएनआरडब्ल्यूए की हर प्रकार की सहायता भी रोक दी थी।

मेहर न्यूज़ एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प ने 6 फ़िलिस्तीनी अस्पतालों को दी जाने वाली ढाई करोड़ डॉलर की मदद पर रोक लगा दी है। यह सहायता अमेरिका की ओर से फ़िलिस्तीन को दी जाने वाली अंतिम सहायता थी। 

अमेरिका के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प के निर्देशानुसार फ़िलिस्तीन के 6 अस्पतालों को दी जाने वाली सहायता में कटौती कर दी गई है और अब इन पैसों को अमेरिका के हितों को पूरा करने के कार्यों में ख़र्च किया जाएगा। बयान में यह भी आया है कि इस तरह के सभी काम “अमेरिका फर्स्ट” डोनल्ड ट्रम्प की नीति का एक भाग है।

अमरीका से सबसे अधिक सहायता ज़ायोनी शासन प्राप्त करता है और अमरीका इस शासन को प्रतिवर्ष तीन अरब डाॅलर से अधिक की सहायता करता है और इसके बदले में उससे कुछ भी नहीं मांगता।

फ़िलिस्तीनी विदेश मंत्रालय ने डोनल्ड ट्रम्प की इस कार्यवाही पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि अमेरिका की यह कार्यवाही उसके इस्राईल प्रेम को दर्शाती है। फ़िलिस्तीनी विदेश मंत्रालय का कहना है कि अमेरिका ने फ़िलिस्तीनियों के ख़िलाफ़ शत्रुता दिखाते हुए मानवता की सभी सीमाएं पार कर दी हैं और अमेरिका के इस अमानवीय क़दम से हज़ारों फ़िलिस्तीनियों की जान ख़तरे में पड़ जाएगी। (AK)

टैग्स

Sep १०, २०१८ १६:२८ Asia/Kolkata
कमेंट्स