• आले सऊद शासन इस्लामी समाज को खोखला कर रहा हैः अंसारुल्लाह प्रमुख

यमन के इस्लामी प्रतिरोध जनांदोलन अंसारुल्लाह के प्रमुख अब्दुल मलिक अल-हौसी ने कहा है कि सऊदी अरब की सरकार और तकफ़ीरी आतंकवादी गुट, इस्लामी समाज को नुक़सान पहुंचाने और उसे खोखला करने का हर संभव प्रयास कर रहे हैं।

मेहर समचार एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार, मंगलवार को अंसारुल्लाह के प्रमुख अब्दुल मलिक हौसी ने अपने संबोधन में कहा कि इतिहास इस बात का साक्षी है कि साम्राज्यवादी शक्तियों ने हमेशा से मुसलमानों के लिए मुश्किलें खड़ी की हैं। उन्होंने कहा कि आज भी हम देख रहे हैं कि कैस आले सऊद शासन, तकफ़ीरी आतंकवादी गुटों और मिथ्याचारी संगठनों के साथ मिलकर साम्राज्यवादी शक्तियों के समर्थन से इस्लामी समाज को अंदर ही अंदर खोखला करने पर तुला हुआ है।

अब्दुल मलिक हौसी ने कहा कि हमे इस बात को समझने की आवश्यकता है कि कैसे आले सऊद सरकार, दरबारी मुफ़्तियों और भ्रष्ट धर्मगुरुओं के सहारे धर्म के नाम पर मुसलमानों को गुमराह और उनके अपमान का कारण बन रही है। उन्होंने कहा कि इस कठिन दौर में हमे सच्चे धर्मगुरुओं और भ्रष्ट धर्मगुरुओं की पहचान करनी होगी ताकि इस्लामी समाज को खोखला होने से बचाया जा सके।

उल्लेखनीय है कि अंसारुल्लाह प्रमुख ने इससे पहले भी अपने एक बयान में कहा था कि वास्तविक इस्लाम का अमेरिका, सऊदी अरब और संयुक्त अरब इमारात का दूर से भी कोई संबंध नहीं है क्योंकि यह लोग पाखंड की पैदावार हैं।

ज्ञात रहे कि सऊदी अरब ने क्षेत्र के कुछ अरब देशों के सहयोग और अमेरिका के समर्थन से 26 मार्च वर्ष 2015 से यमन पर हमला आरंभ कर रखा है जिसमें अब तक 12 हज़ार से अधिक यमनी मारे जा चुके हैं। इसी प्रकार सऊदी अरब के पाश्विक हमलों में दसियों हज़ार यमनी घायल हुए हैं जबकि लाखों बेघर हो चुके हैं। (RZ)

 

Sep १२, २०१८ २०:३१ Asia/Kolkata
कमेंट्स