• 18 महीनों के दौरान,  इस्राईल ने सीरिया  में 200 से अधिक स्थलों को निशाना बनाया है।
    18 महीनों के दौरान, इस्राईल ने सीरिया में 200 से अधिक स्थलों को निशाना बनाया है।

सीरियाई सेना ने मंगलवार , तड़के एक बयान जारी करके बताया है कि पश्चिमोत्तरी नगर लाज़किया में हवाई हमला, लेबनान की वायु सीमा से आने वाले इस्राईली युद्धक विमानों द्वारा किया गया है।

सीरियाई सेना के अनुसार इस्राईली युद्धक विमानों ने लाज़किया में एक उद्योगिक शोध व तकनीक केन्द्र को निशाना बनाया है जिससे केन्द्र की इमारत को नुक़सान पहुंचा और दो लोग शहीद हो गये। 

सीरियाई सेना के बयान में बताया गया है कि ज़ायोनी शासन, इस प्रकार के हमलों द्वारा विभिन्न मोर्चों में पराजित होने वाले आतंकवादियों का इदलिब में हौसला बढ़ाए। 

बयान में कहा गया है कि इन हमलों से यह पूरी तरह से सिद्ध हो जाता है कि इस्राईल किस प्रकार से सीरिया में सक्रिय आतंकवादियों का समर्थन कर रहा है लेकिन इस्राईली हमलों से, देश से आतंकवादियों को जड़ से उखाड़ने के सीरियाई सेना के संकल्प पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। 

इस्राईल ने पिछले शनिवार को भी दमिश्क के इंटरनेश्नल एयरपोर्ट को मिसाइलों से निशाना बनाया था । इस हमले के दौरान सीरियाई सेना ने कई मिसाइलों को नष्ट कर दिया था। 

इस्राईल ने अब तक सीरिया के आतंकवादियों के समर्थन के लिए दसियों बार सीरियाई सेना पर हमले किये हैं और इन में से कई हमले लेबनान की वायु सीमा का उल्लंघन करके, किये जाते हैं। 

ज़ायोनी शासन की सेना ने 4 सितम्बर को अपनी एक रिपोर्ट में कहा है कि गत 18 महीनों के दौरान, उसने ने सीरिया में 200 से अधिक स्थलों को निशाना बनाया है।

याद रहे सीरियाई सेना, सीरिया में आतंकवादियों के अंतिम ठिकाने , इदलिब में अभियान आरंभ करने की तैयारी कर रही है जिसकी वजह से आतंकवादियों के समर्थक बौखलाहट का शिकार हैं।  (Q.A.)

Sep १८, २०१८ ०७:५४ Asia/Kolkata
कमेंट्स