• ग़ज़्ज़ा के परिवेष्टन की समाप्ति तक जारी रहेगा वापसी मार्चः हनिया

फ़िलिस्तीन के इस्लामी प्रतिरोध आंदोलन हमास की राजनैतिक शाखा के प्रमुख इस्माईल हनिया ने बल दिया है कि फ़िलिस्तीनी राष्ट्र ने फ़ैसला कर लिया है कि वह अपने पवित्र ख़ून से ग़ज़्ज़ा की सीमाओं की रक्षा करेगा और ज़ायोनी दुश्मन की ओर से ग़ज़्जा के परिवेष्टन को तोड़ देगा।

फ़िलिस्तीनी इन्फ़ारमेश्न सेन्टर की रिपोर्ट के अनुसार हमास की राजनैतिक शाखा के प्रमुख इस्माईल हनिया ने ग़ज़्ज़ा में शाती शरणार्थी कैंप में शहीद अहमर उमर की शवयात्रा में कहा कि ग़ज़्ज़ा पट्टी की सीमाओं पर व्यापक स्तर पर वापसी मार्च, इस क्षेत्र के परिवेष्टन की समाप्ति और क्षेत्र की जनता के दुख दर्द के समाप्त होने तक जारी रहेगा।

ज्ञात रहे कि फ़िलिस्तीनियों ने 30 मार्च 2018 से शांति मार्च के नाम से प्रदर्शनों का आरंभ किया है जो हर शुक्रवार को किया जाता है। 

 30 मार्च से शुरू हुई वापसी मार्च के नाम से फ़िलिस्तीनियों की शांतिपूर्ण रैली में अब तक ज़ायोनी सैनिकों की फ़ायरिंग में डेढ़ सौ से अधिक फ़िलिस्तीनी शहीद हो चुके हैं जबकि 17 हज़ार से अधिक घायल हुए हैं। यह रैली हर शुक्रवार को ग़ज़्ज़ा और इस्राईल की सीमा पर निकाली जाती है।

इस्लामी गणतंत्र ईरान समेत अधिकतर देशों और अंतर्राष्ट्रीय संस्थाओं ने ज़ायोनियों के इन अपराधों की निंदा की है। 30 मार्च 1976 को ज़ायोनी शासन द्वारा फ़िलिस्तीनियों की ज़मीनों को ज़ब्त करने की वर्षगांठ के अवसर पर हर साल रैलियां निकाली जाती हैं। इस साल फ़िलिस्तीनियों ने इस रैली को वापसी मार्च का नाम दिया है और कहा है कि जब उनकी ज़मीनें वापस नहीं दी जातीं वे हर सप्ताह शुक्रवार को रैली निकालते रहेंगे।

श्री इस्माईल हनिया ने कहा कि ग़ज़्ज़ावासियों ने दुश्मनों के षड्यंत्रों को समाप्त करने का फ़ैसला कर लिया है। उनका कहना था कि वीर और साहसी फ़िलिस्तीनी राष्ट्र एक साथ दो दो मोर्चों पर लड़ रहा है, एक ग़ज़्ज़ा के परिवेष्टन को समाप्त करने का मोर्चा और दूसरा वापसी के हक़ का मोर्चा। (AK)

टैग्स

Sep १९, २०१८ २०:१८ Asia/Kolkata
कमेंट्स