• यमनी सेना की जवाबी कार्यवाही में सऊदी गठबंधन को भारी नुक़सान, यूएई और सऊदी अरब के मुख्य बंदरगाह यमनी सेना के निशाने पर

यमनी सेना और स्वयंसेवी बलों के जवानों ने देश के उत्तरी क्षेत्रों में सऊदी गठबंधन के ख़िलाफ़ जवाबी कार्यवाही करते हुए दर्जनों सऊदी एजेंटों को मौत के घाट उतार दिया है।

प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक़, यमनी सेना और स्वयंसेवी बलों के जियालों ने अलजौफ़ प्रांत के सिबरीन और शाअफ़ इलाक़ों में सऊदी गठबंधन के पाश्विक हमलों का जवाब देते हुए दर्जनों सऊदी सैनिकों और उनके एजेंटों को मौत की घाट उतार दिया है। यमनी सेना ने अपनी जवाबी कार्यवाही में सऊदी गठबंधन की दसियों बक्तरबंद गाड़ियों को नष्ट कर दिया है।

दूसरी ओर अरब मीडिया ने ख़बर दी है कि दक्षिणी यमन के लहज प्रांत के अलहैदैन नामक इलाक़े के आवासीय क्षेत्रों पर सऊदी गठबंधन द्वारा की गई भीषण बमबारी में एक गर्भवति महिला की मौत हो गई है। इस बीच सऊदी अरब के युद्धक विमानों ने हुदैदा प्रांत के ज़ुबैदा इलाक़े पर एक बार फिर बम बरसाए हैं। इस हमले में दो आम नागरिकों के मारे जाने की सूचना है जबकि एक नागरिक गंभीर रूप से घायल हुआ है।

यमन के अलमसीरा टीवी चैनल की रिपोर्ट के अनुसार यमनी सेना के वरिष्ठ कमांडर मोहम्मद क़ादरी ने कहा है कि संयुक्त अरब इमीरात की बंदरगाह जबेल अली और सऊदी अरब की जेद्दाह बंदरगाह हमारे निशाने पर है और आने वाले दिनों में दुनिया इन दोनों स्थानों पर यमनी सेना के हमलों को देखेगी। उन्होंने कहा कि यमन पर अतिक्रमण करने वाले देशों और संयुक्त राष्ट्र संघ को यह जान लेना चाहिए कि आने वाले दिनों में समुद्री युद्ध के बहुत ख़तरनाक परिणाम सामने देखने को मिलेंगे जिसका प्रभाव पूरी दुनिया पर पड़ेगा। (RZ)

 

टैग्स

Sep २४, २०१८ २०:४७ Asia/Kolkata
कमेंट्स