• सैयद हसन नसरुल्लाह का बेटा ब्लैक लिस्ट, हमास और हिज़्बुल्लाह के तीन कमान्डरों के सिर पर ईनाम

अमरीका ने एक बार फिर इस्लामी गणतंत्र ईरान पर आतंकवाद के समर्थन का आरोप लगाते हुए अपने घटकों की तेहरान के बारे में नीतियों पर पुनर्विचार की अपील की है। अमरीकी विदेशमंत्रालय ने हमास, हिज़्बुल्लाह और अंसारुल्लाह के बारे में हर प्रकार की सूचना देने पर ईनाम की घोषणा भी की है।

अमरीका के आतंकवाद निरोधक विभाग के समन्वयकर्ता नीटर नाथन सेल्ज़ ने वाशिंग्टन इंस्टीट्यूट फ़ार नियर ईस्ट पालिसी को संबोधित करते हुए अमरीकी घटकों से अपील की है कि वह इस मालूमात में वाशिंग्टन की सहायता करें कि जिसे उन्होंने ईरानी हिसाब किताब की तबदीली का नाम दिया है।

उन्होंने ईरान के विरुद्ध अमरीका के एकपक्षीय प्रतिबंधकों के दोबारा लागू किए जाने का उल्लेख करते हुए यह बात बल देकर कही कि वाशिंग्टन, अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय व्यवस्थासे ईरान का संबंध समाप्त कराने के लिए किसी भी प्रयास से संकोच नहीं करेगा।

एक और सूचना कि अनुसार अमरीका ने हमास आंदोलन और हिज़्बुल्लाह के तीन महत्वपूर्ण नेताओं के बारे में हर प्रकार की जानकारी देने वाले को ईनाम निर्धारित किए हैं। अमरीकी विदेशमंत्रालय ने कहा कि हमास के नेता सालेह आरूरी और हिज़्बुल्लाह के ख़लील यूसुफ़ महमूद हर्ब और हैसम अली तबातबाई के बारे में जानकारी देने वालों को पांच मिलियन डालर का ईनाम दिया जाएगा।

अमरीकी विदेशमंत्रालय ने हिज़बुल्लाह के महासचिव सैयद हसन नसरुल्लाह के पुत्र जवाद हसन नसरुल्लाह को भी ब्लैक लिस्ट में शामिल करते हुए दावा किया है कि वह जार्डन नदी में इस्राईल विरोधी हमले करने वालों को एकजुट कर रहे हैं।

अमरीकी विदेशमंत्रालय ने यह घोषणा, आतंकवाद निरोधक विभाग के अमरीकी कोआडिनेटर नीटर नाथन सेल्ज़ के सऊदी अरब और इस्राईल के हालिया दौरे के बाद किया।

अमरीका चाहता है कि क्षेत्र में प्रतिरोधक गुटों पर आरोप और दबाव द्वारा आतंकवादियों और प्रतिरोधक विरोधी शक्तियों की स्थिति को बेहतर बनाया जाए। हमास सहित फ़िलिस्तीन के प्रतिरोधक गुट और हिज़्बुल्लाह क्षेत्र में अमरीकी-इस्राईली और सऊदी षड्यंत्रों के मुक़ाबले में महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर रहे हैं। (AK)

Nov १४, २०१८ २०:०८ Asia/Kolkata
कमेंट्स