Dec ०९, २०१८ १८:०६ Asia/Kolkata
  • इस्राईल का चप्पा चप्पा हिज़्बुल्लाह के मिसाइलों की पहुंच के भीतर

हिज़्बुल्लाह के उप महासचिव शैख़ नईम क़ासिम ने कहा कि इस्राईल का कोना कोना हिज़्बुल्लाह के मिसाइलों के रेंज के भीतर है और हिज़्बुल्लाह की प्रतिरोधक ताक़त इस्रईल के समक्ष कठिन समीकरण स्थापित कर दिया है।

शैख़ नईम क़ासिम ने कहा कि इस्राईल के भीतर कोई भी स्थाना एसा नहीं है जो हिज़्बुल्लाह के मिसाइलों की रेंज के बाहर हो। उन्होंने कहा कि तेल अबीब के भीतर भी कोई स्थान सुरक्षित नहीं है।

लेबनान से मिलने वाली सीमा पर इस्राईल सेना की ओर से हिज़्बुल्लाह की कथित सुरंगों का पता लगाने के लिए की जाने वाली खुदाई के बारे में शैख़ ईसा क़ासिम ने कहा कि अब समीकरण बदल चुके हैं और नए समीकरण इस्राईल के लिए बहुत कठिन हैं।

इस्राईल के भीतर राजनैतिक और मीडिया गलियारों में यह चर्चा आम हो चुकी है कि इस्राईल जिसने कई दशकों तक अपनी असीम शक्ति का प्रचार करके क्षेत्रीय देशों को डराए रखा था अब वह हिज़्बुल्लाह या सीरिया नहीं बल्कि फ़िलिस्तीन के हमास और जेहादे इस्लामी जैसे संगठनों के सामने भी कमज़ोर पड़ चुका है जो ग़ज़्ज़ा के सीमित इलाक़े में मौजूद हैं जिसका 12 साल से इस्राईल ने परिवेष्टन कर रखा है।

क्षेत्रीय देशों के टीकाकार यह भी कहते हैं कि वर्तमान समय में जो हालात पैदा हो गए हैं उनमें इस्राईल के अपना अस्तित्व बाक़ी रख पाना असंभव होता जा रहा है क्योंकि क्षेत्र में उन शक्तियों की ताक़त बढ़ रही है जो इस्राईल को ग़ैर क़ानूनी शासन मानती हैं और इस बात पर बल देती हैं कि इस्राईल को समाप्त करके फिलिस्तीन की धरती फ़िलिस्तीनियों कौ लौटा देनी चाहिए जिस पर ग़ैर क़ानूनी क़ब्ज़ा करके इस्राईल ने अपना अस्तित्व थोप रखा है।  

टैग्स

कमेंट्स