Dec १०, २०१८ १७:१५ Asia/Kolkata
  • (फ़ाइल फ़ोटो)
    (फ़ाइल फ़ोटो)

रूसी राष्ट्रपति ने, लेबनान की सीमा पर इस्राईली सेना की हालिया कार्यवाही के मद्देनज़र, इस्राईली प्रधान मंत्री बिनयामिन नेतनयाहू को स्थिरता की अहमियत याद दिलायी।

क्रेमलिन की ओर से रविवार को जारी बयान में आया है कि, शनिवार देर रात पूतिन ने नेतनयाहू से टेलीफ़ोन पर हुयी बातचीत में इस्राईली सेना की हालिया कार्यवाही पर चर्चा की।

इस बयान में आया हैः "रूस के राष्ट्रपति ने क्षेत्र में स्थिरता बनाए रखने पर बल दिया।"

ग़ौरतलब है कि सितंबर 2018 में सीरिया में रूस के एक जासूसी विमान के इस्राईली हवाई हमले में गिरने के बाद, रूस द्वारा सीरिया को मीज़ाईल तंत्र एस-300 दिए जाने की वजह से मॉस्को-तेल अविव के बीच संबंध तनावपूर्ण चल रहे हैं।

रूस ने इस घटना के लिए इस्राईल को ज़िम्मेदार ठहराया था जिसमें उसे 15 क्रू सदस्य मारे गए थे। रूसी रक्षा मंत्रालय ने कहा कि इस्राईली फ़ाइटर जेट ने सीरिया पर हमले के लिए रूसी विमान की आड़ ली थी।

रूसी राष्ट्रपति और ज़ायोनी प्रधान मंत्री के बीच टेलीफ़ोन पर यह बातचीत शनिवार देर रात हुयी। नेतनयाहू ने पूतिन को फ़ोन मिलवाया था। बातचीत के दौरान पूतिन ने नेतनयाहू से कहा कि इस्राईल को रूस के साथ सैन्य समन्वय बेहतर करना होगा।

रूसी नेता ने इस्राईल के साथ दोनों पक्षों के सैन्य विशेषज्ञों की आगामी बैठक की अहमियत पर बल दिया, जिसमें सितंबर की घटना के हालात की समीक्षा होगी।

इस्राईल ने लेबनान के हिज़्बुल्लाह संगठन द्वारा अतिग्रहित फ़िलिस्तीनी क्षेत्र में कथित रूप से खोदी गयी सुरंग को नष्ट करने के बहाने, लेबनान की सीमा पर अतिरिक्त सैनिक तैनात किए हैं। (MAQ/N)

कमेंट्स