Jan २१, २०१९ ०८:५९ Asia/Kolkata
  • अमरीकी-सऊदी गठबंधन एक आतंकवादी गठबंधन है, अलहौसी

यमन क्रांति की उच्च परिषद के प्रमुख ने कहा है कि घायल बंदियों के आदान प्रदान का विरोध करके सऊदी सैन्य गठबंधन ने दर्शा दिया है कि यह एक आतंकवादी गठबंधन है।

मोहम्मद अली अल-हौसी का कहना था कि बंदियों आदान प्रदान में संयुक्त राष्ट्र संघ को अपनी भूमिका निभानी चाहिए।

यमन क्रांति की उच्च परिषद के प्रमुख ने कहा, सऊदी अरब, यूएई और अमरीका के गठबंधन ने उनके देश की घेराबंदी कर रखी है, जिसके कारण नागरिकों की समस्याएं दोगुना हो गई हैं।

ग़ौरतलब है कि सऊदी सैन्य गठबंधन ने मार्च 2015 में यमन के ख़िलाफ़ युद्ध छेड़ते ही इस देश की हवाई सीमाएं बंद कर दी थीं।

स्वीडन वार्ता में दोनों पक्षों के दौरान बंदियों के आदान प्रदान, अल-हुदैदा बंदरगाह और सनआ एयरपोर्ट को खोलने जैसे मुद्दों पर सहमति बनी थी, लेकिन अतिक्रमणकारी अपने वादों पर अमल नहीं कर रहे हैं। msm

 

कमेंट्स