• नेपाल के पामोरी पर्वत की चोटी पर लहराया इमाम हुसैन (अ) का परचम

एक पाकिस्तानी युवक ने नेपाल के पामोरी पवर्त की चोटी पर इमाम हुसैन (अ) के नाम के परचम को लहरा कर दुनिया को शहीदे इंसानियत का संदेश पहुंचाने का प्रयास किया है।

प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान के गिलगित बलतिस्तान प्रांत के रहने वाले युवक मोहम्मद अली सदपारा ने विश्व के  सर्वोच्च शिख़र माउंट एवरेस्ट को फ़तह करने का इरादा किया है।  मोहम्मद अली सदपारा बिना ऑक्सिजन के माउंट एवरेस्ट की चोटी की ओर बढ़ रहे हैं और चोटी पर पहुंचने के बाद वह एक विश्व रिकॉर्ड स्थापित करेंगे।

मोहम्मद अली सदपारा इस भीषण सर्दी के मौसम में बिना ऑक्सिजन के माउंट एवरेस्ट के शिख़र पर पहुंच कर विश्व रिकॉर्ड स्थापित करने के लिए लगातार आगे बढ़ रहे हैं। उन्होंने समुद्र की सतह से 7200 मीटर की ऊंचाई पर स्थित पामोरी पर्वत पर पैग़म्बरे इस्लाम (स) के नाती हज़रत इमाम हुसैन (अ) के प्रति अपनी श्रद्धा पेश करते हुए इमाम हुसैन (अ) के नाम के परचम को उस उंचाई पर लहराकर विश्व रिकॉर्ड बनाया है।

मोहम्मद अली सदपारा ने कहा है कि वे जब माउंट एवरेस्ट के शिख़र पर पहुंचेगे तो वहां इमाम हुसैन (अ) के परचम के साथ पाकिस्तान के राष्ट्रीय ध्वज को लहराएंगे। उन्होंने अपने संदेश में  इस कठिन अभियान की सफलता के लिए सभी शुभचिंतकों से प्रार्थना की अपील की है। (RZ)

 

 

टैग्स

Jan २२, २०१८ १७:१४ Asia/Kolkata
कमेंट्स