• चेतावनियों के बीच ईरान पर पाबंदी के बारे में अमरीका का सुर बदला

ईरान-अमरीका के बीच टकराव की वजह से तेल की क़ीमत के तीन अंक में पहुंचने की चेतावनियों के बाद ईरान पर पाबंदी लगाने के संबंध में अमरीका का स्वर बदल गया है।

अमरीकी विदेश मंत्री माइम पोम्पियों ने मंगलवार को कहा कि उनका देश राहत चाहने वाले देशों को तेल पर पाबंदी से अपवाद रख सकता है। उनका यह बयान वॉशिंग्टन के कठोर दृष्टिकोण में तेज़ी से आए बदलाव को दर्शाता है, ख़ास तौर पर इस बात के मद्देनज़र कि अमरीकी राष्ट्रपति ट्रम्प ने ईरान के तेल निर्यात को शून्य तक पहुंचाने की धमकी दी थी।

अमरीकी विदेश मंत्रालय के ओर से जारी लिखित बयान में आया है कि पोम्पियो ने अबू ज़हबी के दौरे पर स्काई न्यूज़ अरबिया से इंटरव्यू में कहाः "कुछ देश ऐसे होंगे जो अमरीका से राहत की मांग करेंगे। हम इस पर विचार करेंगे।"

अमरीका में युद्धोन्मादी विचार रखने वाले धड़े में शामिल अमरीकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो का यह एलान, मई में उनकी ओर से ईरान से की गयी 12 अनुचित मांगों से बिल्कुल ही अलग नज़र आ रहा है।  

ईरान के तेल के ख़रीदार देशों में दक्षिण कोरिया और जापान ने राहत की मांग की थी जबकि चीन, भारत और तुर्की ने इशारा दिया है कि वे अमरीकी कार्यवाही पर ध्यान नहीं देंगे। योरोपीय ग्राहक भी राहत की मांग कर सकते हैं। (MAQ/N)

 

Jul ११, २०१८ १७:४५ Asia/Kolkata
कमेंट्स