• नेटो के हमले के बाद लीबिया में कैंसर में बढ़ोत्तरी

लीबिया के एक शोधकर्ता ने कहा है कि सन 2011 में नेटो के हमले के बाद देश में कैंसर बहुत तेज़ी से फैल रहा है।

"नूरी अद्दुरूक़ी ने स्पूतनिक समाचार एजेन्सी को दिये अपने साक्षात्कार में बतााय है कि लीबिया के कुछ परमाणु वैज्ञानिकों की रिपोर्ट से पता चलता हे कि नैटो ने 2011 पर लीबिया में आक्रमण के दौरान एेसे बमों का प्रयोग किया था जिनमें यूरेनियम पाया जाता था।  उन्होंने कहा कि इस बारे में अबतक जो जांच की गई है उससे पता चलता है कि जिस क्षेत्र में नेटो ने हमला किया था वहां पर कैंसर में बहुत तेज़ी से फैल रहा है।  लीबिया के इस शोधकर्ता के अनुसार वर्तमान समय में भी त्रिपोली में यूरेनियम का प्रभाव देखा जा सकता है।

ज्ञात रहे कि लीबिया के आंतरिक मामलों में नेटो और अमरीका के हस्तक्षेप के कारण इस देश में अशांति बढ़ रही है।  जानकारों का कहना है कि इस अशांति का लाभ सबसे अधिक सीरिया में सक्रिय आतंकवादी गुटों को हो रहा है।

टैग्स

Jul १४, २०१८ १५:१० Asia/Kolkata
कमेंट्स