• अमेरिका से मुकाबले के लिए एकता की ज़रूरत हैः अर्दोग़ान

अर्दोग़ान ने कहा कि कोई भी तुर्की के दृष्टिगत आर्थिक लक्ष्यों को प्राप्त करने की दिशा में बाधा नहीं बन सकता।

तुर्की के राष्ट्रपति रजब तय्यब अर्दोग़ान ने अपने देश की अर्थ व्यवस्था के खिलाफ अमेरिकी नीतियों की ओर संकेत करते हुए कहा है कि अमेरिका की आर्थिक नीतियों के मुकाबले के लिए एकता और तुर्क जनता के इरादे की ज़रूरत है।

अमेरिका के आर्थिक प्रतिबंधों से उत्पन्न विदेशी मुद्रा भंडार संकट की प्रतिक्रिया में उन्होंने कहा कि उस हमले से मुकाबले में तुर्क लोगों की एकता और इरादा ज़रूरी है जिसने तुर्की की अर्थ व्यवस्था को निशाना बनाया है।

अर्दोग़ान ने कहा कि कोई भी तुर्की के दृष्टिगत आर्थिक लक्ष्यों को प्राप्त करने की दिशा में बाधा नहीं बन सकता। तुर्की ने घोषणा की है कि इस देश की अर्थ व्यवस्था को अगले पांच वर्षों में संकट से मुक्ति दिलाने का एक मार्ग निर्यात को 300 अरब डालर पहुंचाना और विदेशी व्यापार घाटे को कम से कम करना है।

तुर्की में अमेरिकी पादरी एन्ड्रिव बर्नसन पर जासूसी करने और उस पर फत्हूल्लाह गूलेन से संबंध होने का आरोप है और इसी आरोप में उसे गिरफ्तार कर लिया गया है जबकि इससे पहले अमेरिकी सरकार बारमबार अमेरिकी पादरी के रिहा करने की मांग तुर्क सरकार से कर चुकी है परंतु उसे नहीं छोड़ा गया जिससे क्रोधित होकर अमेरिकी सरकार ने पहली अगस्त से अंकारा के खिलाफ आर्थिक प्रतिबंध लगा दिया है।

ज्ञात रहे कि वर्ष 2016 में तुर्की में होने वाले विफल विद्रोह के लिए अंकारा फत्हुल्लाह गूलने को ज़िम्मेदार समझता है जिसे अमेरिका ने अपने यहां शरण दे रखी है। MM

टैग्स

Aug २६, २०१८ १२:२७ Asia/Kolkata
कमेंट्स